राहुल बोले- आरएसएस से मेरी विचारधारा की लड़ाई, मैं लडूंगा और जीतूंगा

मुंबई। वर्ष 2014 में मुंबई के ठाणे इलाके में एक कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या को लेकर दिए गए बयान पर आरएसएस की तरफ से किये गए मानहानि के मामले में आज राहुल गांधी भिवंडी कोर्ट पहुंचे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर आरोप है कि उन्होंने आरएसएस को महात्मा गांधी का हत्यारा करार दिया था। राहुल गांधी ने कहा था कि आरएसएस के लोगों ने महात्मा गांधी की हत्या की थी और आज वे लोग ही उनकी बातें करते हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस बयान पर आरएसएस की तरफ से मानहानि का केस दर्ज करवाया गया था। इस मामले में आज आरोप तय होने थे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सुनवाई में शामिल होने के लिए स्वयं भिवंडी कोर्ट में हाजिर हुए।

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भारतीय दंड संहिता 499 और 500 के तहत आरोप तय किये गए हैं। भिवंडी कोर्ट के बाहर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि उन्हें यह स्वीकार नहीं कि वे दोषी हैं। उन्होंने कहा कि वे इस मामले में कतई दोषी नहीं हैं , उन्होंने कहा कि उनकी लड़ाई विचारधारा की है, वे इस मामले में आगे लड़ेंगे और जीतेंगे।

कांग्रेस अध्यक्ष ने ये भी कहा कि देश में 15-20 अमीर लोगों की सरकार चल रही है। मोदी जी के बारे में मीडिया से सब कुछ पता चलता रहता है। आगे उन्होंने कहा, मगर जो काम की बात है- रोजगार और किसानों की रक्षा, उसके बारे में नरेंद्र मोदी जी कुछ नहीं कहते हैं। इसको लेकर हमारी लड़ाई है।

राहुल ने कहा, महंगाई के बारे में, पेट्रोल-डीजल के दाम के बारे में नरेंद्र मोदी जी एक शब्द नहीं कहते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर तो ये केस लगाते रहते हैं। ठीक है जितना लगना हो, लगाएं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। हमारी विचारधारा की लड़ाई है। इनके खिलाफ लड़ेंगे और हमारी जीत होगी।

बता दें कि संघ कार्यकर्ता राजेश कुंटे ने 2014 में भिवंडी में राहुल गांधी का भाषण सुनने के बाद उनके खिलाफ केस दर्ज किया था। राहुल ने उस भाषण में कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या के पीछे आरएसएस का हाथ था। मानहानि का ये मामला छह मार्च 2014 को एक चुनावी रैली में राहुल गांधी के कथित बयान से जुड़ा है। इस बयान में राहुल गांधी ने आरएसएस को महात्मा गांधी की हत्या से जोड़ा था।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *