राहुल गांधी सहित विपक्ष के 9 नेता आज जाएंगे कश्मीर

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के दौरान कई नेताओं के हिरासत में लिए जाने के बीच विपक्ष लगातार यह मांग करता रहा कि यदि कश्मीर में सबकुछ सही है तो सरकार विपक्षी दलों के नेताओं को कश्मीर जाने की अनुमति दे।

इस मामले को पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उठाते हुए सरकार पर आरोप लगाया था कि वह कश्मीर को लेकर पारदर्शिता नहीं दिखा रही। पिछले दिनों जम्मू कश्मीर के हालात को लेकर राज्यपाल सत्यपाल मालिक और कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बीच ट्विटर पर जंग शुरू हो गयी थी।

अब खबर आ रही है कि शनिवार (आज) विपक्ष का एक प्रतिनिधि मंडल श्रीनगर जाएगा और यहां के लोगों से मुलाकात करेगा। इसमें कांग्रेस के अलावा तृणमूल कांग्रेस,सीपीआई, सीपीएम, राष्ट्रीय जनता दल, डीएमके सहित कई दलों के नेता शामिल हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस प्रतिनिधिमंडल में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा, माकपा से सीताराम येचुरी, भाकपा के डी. राजा, डीएमके के तिरुची सिवा, राजद के मनोज झा और तृणमूल से दिनेश त्रिवेदी शामिल होंगे।

हालाँकि सूत्रों का कहना है कि विपक्ष के प्रतिनिधि मंडल को केवल श्रीनगर तक ही सीमित रखा जाएगा और प्रशासन उसे जम्मू कश्मीर के अन्य इलाको में नहीं जाने देगा।

गौरतलब है कि इससे पहले कांग्रेस नेता गुलामनबी आज़ाद दो बार श्रीनगर जाने की कोशिश कर चुके हैं और दोनों बार उन्हें श्रीनगर और जम्मू एयरपोर्ट से ही वापस लौटा दिया गया।

जम्मू कश्मीर के हालातो को लेकर जहाँ भारतीय मीडिया ख़ामोशी साधे हैं वहीँ कुछ विदेशी मीडिया ने पत्थरबाज़ी और लोगों की गिरफ्तारी की ख़बरें बताई हैं। विपक्ष इस मामले में सरकार पर लगातार आरोप लगा रहा है। विपक्षी दलों ने हाल ही में जंतर मंतर पर प्रदर्शन करके जम्मू कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों फारूक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ़्ती और उमर अब्दुल्ला सहित अन्य नेताओं की रिहाई की मांग की थी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें