राहुल गांधी के हस्ताक्षर पर विवाद जायज या साजिश

अहमदाबाद। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा सोमनाथ मंदिर में दर्शन करने से पहले गैर हिन्दुओं वाले रजिस्टर में हस्ताक्षर करने के मामले को बीजेपी तूल दे रही है।

सोशल मीडिया पर राहुल गांधी और अहमद पटेल के हस्ताक्षरों वाली एक तस्वीर को बीजेपी की सोशल मीडिया टीम वायरल करने में जुटी है। सवाल यही किया जा रहा है कि राहुल गांधी खुद को हिन्दू नहीं मानते तो वे कौन सा धर्म मानते हैं।

सबसे बड़ा सवाल यही है कि राहुल पहली बात सोमनाथ नहीं गए हैं। इतनी बड़ी चूक उनसे कैसे हो सकती है ? सम्भवतः यह साजिश नज़र आती है। जानकारी के अनुसार मंदिर में दो रजिस्टर रखे होते हैं। इनमे से एक रजिस्टर हिन्दू दर्शनार्थियों के लिए और दूसरा रजिस्टर गैर हिन्दू दर्शनार्थियों के लिए रखा होता है।

जब भी मंदिर में कोई दर्शन करने पहुँचता है तो उसे एक रजिस्टर में साइन करने होते हैं। यदि दर्शनार्थी हिन्दू है तो उसे हिन्दू रजिस्टर में यदि गैर हिन्दू है तो उसे गैर हिन्दू वाले रजिस्टर में साइन कराये जाते हैं। रजिस्टर के बारे में जानकारी देने काम मंदिर का स्टाफ करता है।

यदि बीजेपी के इस आरोप को सही मान लिया जाए कि कांग्रेस उपाध्यक्ष ने गैर हिन्दू वाले रजिस्टर में साइन किये हैं तो बड़ी सम्भवना यही है कि यह भूलवश या साजिश के तहत हुआ हो। क्यों कि गुजरात विधानसभा चुनाव में पिछड़ रही बीजेपी को कांग्रेस के खिलाफ किसी ताकतवर मुद्दे की तलाश थी।

:: कांग्रेस द्वारा शेयर की जा रही इमेज ::

वहीँ बीजेपी जिस तस्वीर को सबूत के तौर पर पेश कर रही थी उसमे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साइन के नीचे अहमद पटेल के भी साइन हैं। मान लीजिये कि राहुल गांधी को यह जानकारी न हो कि वे किस रजिस्टर में साइन कर रहे हैं तो कम से कम अहमद पटेल को तो इस बात की जानकारी होनी चाहिए थी। आखिर क्या वजह थी कि अहमद पटेल ने राहुल गांधी को गैर हिन्दू वाले रजिस्टर में साइन करने से नहीं रोका।

:: बीजेपी द्वारा शेयर की जा रही इमेज ::

वहीँ जानकारों की माने तो यह दूसरा मौका है जब कांग्रेस के खिलाफ कोई मुद्दा बीजेपी तक पहुंचा है और उसके सूत्रपात अहमद पटेल बने हैं। इससे पहले अहमद पटेल से जुड़े एक अस्पताल के एक कर्मचारी को गुजरात एटीएस ने आतंकी संगठन आईएसआईएस से जुड़े होने के शक में गिफ्तार किया था। जिसके बाद बीजेपी ने अहमद पटेल का नाम लेकर कांग्रेस को घेरने की कोशिश की थी।

फिलहाल सोशल मीडिया पर दो तस्वीरें वायरल हो रही हैं। एक तस्वीर जो बीजेपी की तरफ से वायरल हो रही है उसमे राहुल गांधी और अहमद पटेल के साइन हैं। जिसे शेयर करते हुए यह दावा किया जा रहा है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गैर हिन्दू वाले रजिस्टर पर साइन किये हैं।

वहीँ दूसरी तरफ कांग्रेस द्वारा शेयर की जा रही तस्वीर सिर्फ राहुल गांधी के साइन दिखाई दे रहे हैं। कांग्रेस का दावा है कि बीजेपी द्वारा शेयर की जा रही राहुल गांधी के साइन वाली तस्वीर फेक है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *