राहुल गांधी का पीएम से सवाल: महंगी बिजली खरीदकर 4 निजी कंपनियों की जेबें क्यों भरीं

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी से प्रतिदिन एक सवाल पूछने की अपनी श्रंखला के तहत आज सवाल किया है कि गुजरात में निजी कंपनियों से महँगी बिजली क्यों खरीदी गयी।

शुक्रवार को राहुल गांधी ने ’22 सालों का हिसाब, गुजरात मांगे जवाब’ लिखकर ट्वीट कर पीएम मोदी से गुजरात में बिजली आपूर्ति के लिए निजी कंपनियां से महँगी बिजली खरीदने पर सवाल उठाया।

राहुल ने ट्वीट कर मोदी से पूछा कि 2002-16 के बीच 62 हजार 549 करोड़ की बिजली खरीद कर चार प्राइवेट कंपनियों की जेब क्यों भरी? राहुल गांधी ने गुजरात सरकार पर सरकारी बिजली कारखानों की क्षमता घटाने का आरोप लगाया। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने बिजली कारखानों की क्षमता 62 फीसदी घटा दी है, लेकिन निजी कंपनी से 3 रुपये प्रति यूनिट की बिजली 24 रुपये में क्यों खरीदी?

इससे पहले कल राहुल गांधी ने 22 वर्षो में गुजरात का कर्ज 26 गुना कैसे बढ़ गया। उन्होंने आंकड़ों का हवाला देते हुए सवाल किया कि 1995 में गुजरात पर 9,183 करोड़ रुपये का कर्ज था और 2017 में गुजरात पर 2,41,000 करोड़ का कर्ज है।

यानी हर गुजराती पर 37 हजार रुपये का कर्ज है। इन आंकड़ों को सामने रखते हुए राहुल गांधी ने पूछा है कि नरेंद्र मोदी के वित्तीय कुप्रबंधन और पब्लिसिटी की सजा गुजरात की जनता क्यों चुकाए?

 

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें