राहुल गांधी का एलान: सरकार में आने पर आम ज़रूरतों की चीज़ो से जीएसटी हटाएगी कांग्रेस

अमेठी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दौरे के दूसरे दिन कहा कि कांग्रेस सत्ता में आने के बाद आम ज़रूरत की अधिकांश चीज़ो से जीएसटी हटाएगी।

उन्होंने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को आम जनता और छोटे व्यापारियों के लिये नुकसानदेह करार देते हुए कहा कि अगले लोकसभा चुनाव के बाद केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनने पर जनता की आम जरूरत से जुड़ी ज्यादातर चीजों को जीएसटी के दायरे से बाहर किया जायेगा।

राहुल गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दूसरे और अंतिम दिन मुकुटनाथ इंटर कॉलेज ताला खजुरी गौरीगंज में किसानों की चौपाल में कहा कि जीएसटी से आम जनता को महंगाई का सामना करना पड़ रहा है और छोटे व्यापारियों का नुकसान हुआ है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की नीति बिल्कुल साफ है, जैसे ही हमारी सरकार आयेगी, हम जीएसटी को बदलेंगे। उन्होंने भरोसा दिलाया कि देश में एक कर होगा. जनता जिन चीजों को ज्यादा इस्तेमाल करती है, उनको हम जीएसटी के दायरे से निकालेंगे तथा पेट्रोल-डीजल को हम जीएसटी के दायरे में लायेंगे।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि अगर सरकार हिंदुस्तान के सबसे अमीर 15 लोगों का दो लाख करोड़ रुपया एक साल में कर्ज माफ कर सकती है, तो फिर वह किसानों का कर्ज भी माफ कर सकती है।

उन्होंने कहा कि अभी हाल में कर्नाटक में हमारी सरकार ने ऐसा किया है. हम यह नहीं कह रहे हैं कि आप सिर्फ किसानों का कर्ज माफ कीजिये। हमारा कहना है कि आप न्याय करिये। अगर आप अमीर लोगों का कर्ज माफ कर रहे हैं, तो किसानों का भी माफ कीजिये।

राहुल ने अमेठी में फूड पार्क लगाने की अपनी पिछली योजना का जिक्र करते हुए कहा कि केंद्र में जब कांग्रेसनीत यूपीए की सरकार थी, तब वह अमेठी में फूड पार्क लगाना चाहती थी।

उन्होंने कहा कि इस पार्क में 40-50 अलग-अलग कारखाने होते. उसमें चिप्स, कैचप, अचार और अन्य अलग-अलग चीजें बनतीं। किसान जो उगाते, उसे फूड पार्क में लाकर बेच सकते थे, मगर मोदी जी की सरकार ने अमेठी से फूड पार्क छीन लिया।

उन्होंने कहा कि नोएडा में बाबा रामदेव का फूड पार्क बन रहा है, मगर अमेठी में नहीं बनने दिया। मेरा अमेठी, रायबरेली और सुल्तानपुर के किसानों से वायदा है कि जैसे ही हमारी सरकार बनेगी, यहां फूड पार्क बनेगा और मैं उसका उद्घाटन करूंगा, आप अपनी चीजें सीधे फूडपार्क में बेच सकेंगे।

राहुल ने कहा कि जब आंध्र प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी, तब वहां उन्नतिशील किसानों को जोड़कर एक संगठन बनाया गया था, जिसके माध्यम से अन्य किसानों को तकनीक के बारे में समझाया जाता था। वही काम हम यहां करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मेरी सोच है कि जब तक हम हिंदुस्तान के किसान की मदद नहीं करेंगे, तब तक यह देश आगे नहीं बढ़ सकता है। हममें और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच में यही फर्क है।

उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी हिंदुस्तान के किसान पर भरोसा नहीं करते। वह खुद पर और अपने इर्द-गिर्द के 10-15 अधिकारियों पर भरोसा करते हैं, मगर हम हिंदुस्तान के किसान, मजदूर और छोटे दुकानदार पर भरोसा नहीं करते हैं।

राहुल ने कहा कि हमारी सोच है कि यहां बाहर से माल ना आये, बल्कि अमेठी का चीजें बाहर जाए। मैं वह दिन देखना चाहता हूं, जहां जापान या अमेरिका में कोई फल खाये और उसके डिब्बे पर लिखा हो ‘मेड इन उत्तर प्रदेश‘ या ‘मेड इन अमेठी।

राहुल गांधी ने लोगों को भरोसा दिलाया कि लोकसभा चुनाव के बाद केंद्र में जैसे ही हमारी सरकार आयेगी, हम यह काम करेंगे। पहले से बड़ा फूड पार्क हम यहां बनायेंगे।

इसके पहले, कांग्रेस अध्यक्ष ने पिछले अप्रैल में सुकमा में नक्सलवादियों के हमले में मारे गये जवान अनिल कुमार मौर्य के परिजनों से गुरुवार को मुलाकात की और उन्हें हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

राहुल अपने क्षेत्र भ्रमण के क्रम मे मुंशीगंज में कांग्रेस नेता राम मूर्ति शुक्ला के घर गये और कुछ समय परिवार के लोगों के साथ रहे। गुरुवार को शुक्ला की पौत्री की शादी है। कांग्रेस अध्यक्ष ने गौरीगंज के कौहार में निर्माणाधीन सैनिक स्कूल का निरीक्षण किया। उसके बाद वह कांग्रेस सेवादल के वरिष्ठ नेता बैजनाथ तिवारी के घर गये और उनकी पत्नी के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की।

कांग्रेस अध्यक्ष ने क्षेत्र में सांसद निधि से बनी पांच सड़कों का लोकार्पण किया. राहुल ने जर्जर अमेठी बाईपास का निरीक्षण किया और उपजिलाधिकारी शैलेंद्र मिश्र से सवाल किये। मिश्र ने राहुल को बताया कि इसका 115 करोड़ रुपये का बजट आ चुका है। काम जल्द शुरू होगा। इसके पहले, राहुल ने गौरीगंज कांग्रेस कार्यालय में आये फरियादियों तथा पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनीं और उनके समाधान का भरोसा दिलाया।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें