राहुल का संघ पर हमला: सावरकर ने अंग्रेजों से दया और क्षमादान की भीख मांगते हुए लिखा था पत्र

नई दिल्ली। कांग्रेस के 84वे महाअधिवेशन के अंतिम दिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी और आरएसएस पर तीखे प्रहार किये।

राहुल ने कहा कि गांधी ने 15 साल जेल में बिताया और देश के लिए उनकी मृत्यु हो गई। लेकिन भारत को यह कभी नहीं भूलना चाहिए कि जब हमारे नेता जेल में फर्श पर सोए, तब सावरकर ने अंग्रेजों से दया और क्षमादान की भीख मांगते हुए पत्र लिखा था।

राहुल ने कहा कि भाजपा और आरएसएस कौरवों के समान सत्ता के लिए लड़ रही है जबकि कांग्रेस पांडवों के समान सत्य के लिए लड़ रही है। भाजपा एक संगठन की आवाज है जबकि, कांग्रेस एक देश की आवाज है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में भ्रष्टाचार और ताकत से देश को नियंत्रित किया जा रहा है। एक तरफ तेजी से विकसित होती अर्थव्यवस्था थी, वहीं, अब करोड़ों युवाओं के पास रोजगार नहीं है। आज चीन हर जगह है, हर जगह मेड इन चाइना का बोलबाला है।

राहुल गांधी ने कहा कि अच्छे दिन, स्वच्छ भारत और बैंक में 15 लाख का वादा जुमला है। नोटबंदी, गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी), योग परेड जैसी कई बातें। देश में रोजगार नहीं है, किसान मर रहे हैं, पर पीएम कहते हैं कि चलो इंडिया गेट पर योग करें। देश की जनता की आवाज उठाने के लिए कोई हमें नहीं रोक सकता है। गरीबों को उनके अधिकार नहीं मिल रहे हैं। जब हम सवाल उठाते हैं तो सरकार से उनका जवाब चाहते हैं।

राहुल ने कहा, ”सच बोलने पर गौरी लंकेश को मार दिया गया। नीरव मोदी जिसने बैंक को करोड़ों रुपए चूना लगाया, उन्हीं के नाम के हमारे पीएम हैं। मोदी ने मोदी को 33 हजार करोड़ रुपए दिए और वो लेकर भाग गया। गुजरात चुनाव में कई लोगों ने कहा कि मैं मंदिर जाता हूं। मैं सालों से मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे और चर्च में जाता हूं। राजनीति में जब भी कोई मुझे बुलाता है मैं वहां जाता हूं।”

उन्होंने कहा कि 15 साल से राजनीति में हूं, चोटें लगती हैं, मुझे भी लगीं, आपको भी लगी होंगी। लेकिन हम इनसे सीखते हैं। हमें जब चोट लगती है तो हम सीखते हैं। हमसे गलतियां भी होती हैं। हम सब गलतियां करते हैं, मान लेते हैं। आरएसएस वाले अपनी गलती नहीं मानते हैं। इन्होंने नोटबंदी की, पूरी दुनिया ने इसे गलत कहा। मोदी जी रो दिए, लेकिन अपनी गलती कभी नहीं मानते। कांग्रेस के नेता अपनी गलती मान लेते हैं।

राहुल ने कहा कि वे (लोग) हत्या के आरोपी को भाजपा के अध्यक्ष के रूप में स्वीकार करते लेंगे, लेकिन वे कभी भी कांग्रेस पार्टी में ऐसा स्वीकार नहीं करेंगे क्योंकि वे कांग्रेस को सर्वोच्च मानते हैं।

उन्होंने कहा कि बीजेपी चुनाव हारते जा रही है। मोदी जी के चेहरे पर आपने फर्क देखा होगा। अब सूट नहीं पहनते हैं। सोच रहे होंगे कि गुजरात में तो बच गए शायद 2019 में नहीं बच पाएंगे। कांग्रेस को किसी से नहीं डरना है। यह गांधी जी का संगठन है। शेरों का संगठन है। हम लोग हिंसा नहीं फैलाएंगे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें