राष्ट्रपति उम्मीदवार पर पीएम मोदी लें अंतिम निर्णय, शिवसेना को मंज़ूर नहीं

मुंबई। राष्ट्रपति चुनाव में आम सहमति बनाने के उद्देश्य से बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे से मुलाक़ात कर इस मामले में अंतिम बातचीत की। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राष्ट्रपति उम्मीदवार चुनने के अधिकार को नकार दिया है।

शिवसेना चीफ ठाकरे के आवास मतोश्री में एक घंटे से भी ज्यादा समय तक चली इस बैठक में उनके बेटे आदित्य ठाकरे ने भी भाग लिया। इस दौरान महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी उपस्थित थे।

सूत्रों के अनुसार भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार का नाम सुझाने के लिए कहा लेकिन साथ में यह भी कहा कि इस पर अंतिम निर्णय हम पीएम मोदी पर छोड़ रहे हैं। सूत्रों ने कहा कि शाह ने ठाकरे से कहा कि वे सभी दलों से उम्मीदवार के प्रस्तावित नामो को लेकर पीएम मोदी को सौंप देंगे और इस पर अंतिम निर्णय उन्ही का रहेगा।

सूत्रों ने कहा कि शिवसेना ने शाह के प्रस्ताव को ख़ारिज कर दिया। सूत्रों के अनुसार उद्धव ने कहा कि वे अपनी पार्टी के लोगों से चर्चा के बाद इस बारे में कुछ कह पाएंगे। वहीँ सूत्रों ने कहा कि शिवसेना शाह के प्रस्ताव से सहमत नहीं है और इस मामले में अगले दो दिन में शिवसेना अपने पत्ते खोल सकती है कि वह एनडीए के साथ रहेगी या विपक्ष के साथ जाएगी।

सूत्रों ने कहा कि शिवसेना के सामने सभी विकल्प खुले हैं इसमें महाराष्ट्र बीजेपी से समर्थन वापस लेकर नई गैर बीजेपी सरकार का गठन भी शामिल है। सूत्रों ने कहा कि फिलहाल यह नहीं कहा जा सकता कि शिवसेना बीजेपी से पूर्णतः सहमत या असहमत है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें