राम मंदिर मुद्दे पर बीजेपी से नाराज़ हैं संत, कहा ‘रावण जैसी घमंडी बीजेपी का होगा विनाश’

लखनऊ। राम मंदिर निर्माण में हो रही देरी पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा संत सम्मेलन में दिए गए बयान के बाद संत समाज गुस्से में हैं। रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने मीडिया से कहा कि सत्ता का घमंड बीजेपी के सिर चढ़कर बोल रहा है और अब बीजेपी राम मंदिर पर बहानेबाज़ी कर रही है।

राम लला के मुख्य पुजारी ने कहा कि जब चुनाव आते हैं तो बीजेपी राम मंदिर की बातें करके हिन्दू समुदाय के लोगों को बहकाती है और सत्ता में आने के बाद राम मंदिर की बात नहीं करती।

उन्होंने कहा कि केंद्र व कई राज्यों में भाजपा की सत्ता राम लला की देन है। रामलला के आशीर्वाद के कारण ही भाजपा पूरे देश में राज्य कर रही है। उन्होंने कहा कि संतो और हिन्दू समुदाय की भावनाएं आहत करने वाली बीजेपी का विनाश हो जायेगा।

सत्येंद्र दास ने कहा कि जिस तरह से रावण और कंस को अभिमान हुआ था और उसका विनाश हुआ। उसी तरह से बीजेपी को भी अभिमान हो गया है और अब वह विनाश की तरफ बढ़ रही है।

गौरतलब है कि हाल ही में अयोध्या के संत समेलन में भाग लेने पहुंचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर के मुद्दे पर संतो से धैर्य रखने की अपील की थी। राम मंदिर निर्माण को लेकर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस पर कोर्ट का फैसला आने के बाद काम शुरू होगा।

इतना ही नहीं योगी आदित्यनाथ ने यह कहकर इस मामले को टालने की कोशिश की कि जब प्रभु रामजी की कृपा होगी तब राम मंदिर बनेगा। योगी आदित्यनाथ के इस बयान के बाद संतो में निराशा पैदा हो गयी है।

रामलला के मुख्य पुजारी ने आज मीडिया से जो कुछ कहा वह संतो के गुस्से की एक झलक है। उन्होंने संतो की तरफ से पक्ष रखते हुए बीजेपी को आड़े हाथो लिया और अपनी नाराज़गी जताई ।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें