राम मंदिर निर्माण शुरू नहीं हुआ तो हम पीएम भी बदल सकते हैं: तोगड़िया

लखनऊ। आज लखनऊ से अयोध्या कूँच कर रहे अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि यदि मोदी सरकार मंदिर निर्माण के लिए कानून नहीं बनाती तो हम दूसरा प्रधानमंत्री ढूंढ़ लेंगे।

लखनऊ में एक सभा को सम्बोधित करते हुए तोगड़िया ने कहा कि मंदिर का संघर्ष मोदी के सामने शुरू नहीं हुआ है। राजीव गांधी, नरसिंह राव, अटल विहारी वाजपेयी के सामने भी संघर्ष था। मुख्यमंत्री योगी जी ये सपना महंत अवैद्यनाथ जी का भी है।

प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि हम चेतावनी देना चाहते हैं कि अगर राम मंदिर के निर्माण कानून बनाकर शुरू नहीं हुआ तो हम प्रधानमंत्री भी बदल सकते हैं। हमें किसी व्यक्ति से प्रेम नहीं है।

उन्होंने कहा कि जो राम का सम्मान न कर सके वह किसी काम का नहीं है। तोगड़िया ने कहा​ कि हम शांति से यहां से अयोध्या जाएंगे। प्रशासन की वजह से ही आपको खाना नहीं मिला। आप धूप में बैठे हैं, उनका अक्षम्‍य पाप है लेकिन हम अनुशासन में अयोध्या जाएंगे।

प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि प्रधानमंत्री जी सरकार बनने के बाद क्या आपने एक बार भी राम का नाम लिया. यह लड़ाई प्रवीण तोगड़िया कि नहीं है, अशोक सिंघल की नहीं है, यह करोड़ों हिंदुओं की आस्था का विषय है। देशभर से अयोध्या कुछ करने के लिए लोगों को हमने इसलिए बुलाया है कि हम उनका वादा उन्हें याद दिलाना चाहते हैं।

तोगड़िया ने कहा कि हमें राम के लिए घर चाहिए. सस्ती शिक्षा चाहिए, युवाओं को रोजगार चाहिए, सस्ता पेट्रोल चाहिए, कर्ज मुक्त किसान चाहिए इसीलिए हमारा नारा रहा अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण करना है। उन्होंने बीजेपी को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि सरकार आने से पहले कहा था कि हम राम मंदिर का निर्माण कराएंगे, इसके लिए कानून बनाएंगे, भाजपा को चुनाव से पहले ही राम की याद आती है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें