रामदेव को बनाया चीफ गेस्ट तो अमेरिकन सेंटर ने खुद को किया कार्यक्रम से अलग

चेन्नई। आईआईटी मद्रास के एक कार्यक्रम में योग गुरु बाबा रामदेव को चीफ गेस्ट बनाये जाने से नाराज़ अमेरिकन सेंटर ने खुद को कार्यक्रम से अलग कर लिया है।

‘द न्यूज मिनट’ की रिपोर्ट के अनुसार, सम्मेलन के एजेंडे में एंडर्सन कैंसर सेंटर के प्रोफेसर को रामदेव का परिचय इस तरह कराना था कि रामदेव योग और पतंजलि द्वारा बनाई गई दवा के जरिये कैंसर और एड्स जैसी जानलेवा बीमारियों का पूर्ण इलाज करते हैं।

वहीँ भारत में कैंसर और एड्स के दर्जनों नए मामले हर साल सामने आते हैं। इससे निपटने के लिए प्रयास भी किए जा रहे हैं, लेकिन भारत के साथ दुनिया के वैज्ञानिक समुदाय को अभी तक इस दिशा में उल्लेखनीय सफलता नहीं मिल सकी है। इसके कारण कई लोगों को जान तक गंवानी पड़ती है।

सूत्रों की माने तो अमेरिकन एंडर्सन कैंसर सेंटर को बाबा रामदेव का इस तरह परिचय कराना हास्यास्पद लगा। एंडर्सन सेंटर ने ट्वीट कर कहा, “एमडी एंडर्सन कैंसर सेंटर अतीत में अपने ग्लोबल एकेडमिक प्रोग्राम के तहत कांफ्रेंस को स्पॉन्सर करता रहा है। लेकिन, इस बार एंडर्सन सेंटर स्पॉन्सर नहीं है।”

इतना ही नहीं एमडी एंडर्सन कैंसर सेंटर की तरफ से यह भी कहा गया कि “हमारे नाम और लोगो का इस्तेमाल बिना मंजूरी के किया जा रहा है। हमारा अनुरोध है कि प्रचार सामग्री से इसे अविलंब हटा दिया जाए।”

बता दें कि आईआईटी की ओर से 8 फरवरी को चेन्नई में ‘कैंसर रोकथाम अैर इलाज: प्राचीन दवा से आधुनिक दवा तक’ विषय पर कांफ्रेंस आयोजित किया जाना है। इसमें योग गुरु बाबा रामदेव को चीफ गेस्ट के तौर पर आमंत्रित किया गया था।

Share

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें