राफेल मामले में पीएम मोदी के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए पर्याप्त सबूत: राहुल

नई दिल्ली। राफेल मामले को लेकर अब कांग्रेस नए सिरे से हमले कर रही है। सुप्रीमकोर्ट में केंद्र सरकार द्वारा राफेल डील से जुड़े अहम दस्तावेज खोने की स्वीकारोक्ति दिए जाने के कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर सीधा निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि अब पीएम मोदी के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए पर्याप्त सबूत हैं.

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ” अब राफेल घोटाले में पीएम के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए पर्याप्त सबूत हैं। करप्शन का सिलसिला उन्हीं से शुरू हुआ और उन्हीं पर खत्म भी होगा। राफेल की अहम फाइल उन्हें फंसाने वाली थी और अब बताया जा रहा है कि वह चोरी हो चुकी हैं। जो कि सबूतों को नष्ट करने का और इसे ढकने का तरीका है।”

इससे पहले आज कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि चौकीदार की चोरी रंगे हाथो पकड़ी गयी है। सुप्रीमकोर्ट में केंद्र सरकार द्वारा राफेल डील से संबंधित दस्तावेज चोरी होने की स्वीकारोक्ति के बाद साफ़ हो गया है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने देश व संसद को सफेद झूठ बोल जानबूझकर गुमराह किया ताकि राफेल सौदे में हुए भ्रष्टाचार, जालसाजी व देश की सुरक्षा से षडयंत्रकारी खिलवाड़ पर पर्दा डाला जा सके।

रणदीप सुरजेवाला ने आगे कहा, ” मोदी सरकार द्वारा खरीदे जा रहे 36 राफेल जहाजों की कीमत यूपीए, कांग्रेस के द्वारा खरीदे जा रहे 126 राफेल जहाजों से कहीं ज्यादा है। मोदी जी ने संसद व देश को बरगलाया तथा देश के खजाने को चूना लगाया।”

सुरजेवाला ने कहा, ”राफेल जहाज खरीदने बैंक गारंटी हटाने वाले चौकीदार ने देश को लूटा। न India Specific Enhancements की कीमत शामिल की और न ही Transfer of Technology की।”

गौरतलब है कि राफेल डील को लेकर दायर पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई। इस दौरान सरकार ने कोर्ट को बताया कि राफेल डील से संबंधित अहम दस्तावेज रक्षा मंत्रालय से चोरी हो गए।

केंद्र सरकार की तरफ से एटॉर्नी जनरल ने कहा कि ये वही दस्तावेज हैं, जो मीडिया में दिखाए गए हैं। उन्होंने कहा कि 36 राफेल विमानों की खरीद पर सुप्रीम कोर्ट की ओर से 14 दिसंबर को सरकार को दी गई क्लीनचिट को वापस लेने की मांग करने के लिए याचिकाकर्ताओं ने इन्हीं रिपोर्ट का हवाला दिया है। अब इस मामले पर अगली सुनवाई 14 मार्च तय की गई है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें