राफेल डील- पढ़िए: कोर्ट में किसने क्या कहा? कांग्रेस ने कहा ‘रंगे हाथ पकड़ी गयी चौकीदार की चोरी’

नई दिल्ली। राफेल डील को लेकर केंद्र सरकार द्वारा सुप्रीमकोर्ट में आज राफेल डील से जुड़े अहम कागज चोरी होने की बात कहे जाने के बाद कांग्रेस हमलावर हो गयी है। कांग्रेस ने कहा कि अब चौकीदार की चोरी रंगे हाथो पकड़ी गयी है।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि अब साजिश का भंडाफोड़ हो गया है और चौकीदार की चोरी रंगे हाथों पकड़ी गई है। उन्होंने कहा कि ”अब साफ है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देश व संसद को सफेद झूठ बोल जानबूझकर गुमराह किया ताकि राफेल सौदे में हुए भ्रष्टाचार, जालसाजी व देश की सुरक्षा से षडयंत्रकारी खिलवाड़ पर पर्दा डाला जा सके। साजिश का भंडाफोड़ हुआ और चौकीदार की चोरी रंगे हाथों पकड़ी गई।”

रणदीप सुरजेवाला ने आगे कहा, ” मोदी सरकार द्वारा खरीदे जा रहे 36 राफेल जहाजों की कीमत यूपीए, कांग्रेस के द्वारा खरीदे जा रहे 126 राफेल जहाजों से कहीं ज्यादा है। मोदी जी ने संसद व देश को बरगलाया तथा देश के खजाने को चूना लगाया।”

सुरजेवाला ने कहा, ”राफेल जहाज खरीदने बैंक गारंटी हटाने वाले चौकीदार ने देश को लूटा। न India Specific Enhancements की कीमत शामिल की और न ही Transfer of Technology की।”

गौरतलब है कि राफेल डील को लेकर दायर पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई। इस दौरान सरकार ने कोर्ट को बताया कि राफेल डील से संबंधित अहम दस्तावेज रक्षा मंत्रालय से चोरी हो गए।

केंद्र सरकार की तरफ से एटॉर्नी जनरल ने कहा कि ये वही दस्तावेज हैं, जो मीडिया में दिखाए गए हैं। उन्होंने कहा कि 36 राफेल विमानों की खरीद पर सुप्रीम कोर्ट की ओर से 14 दिसंबर को सरकार को दी गई क्लीनचिट को वापस लेने की मांग करने के लिए याचिकाकर्ताओं ने इन्हीं रिपोर्ट का हवाला दिया है। अब इस मामले पर अगली सुनवाई 14 मार्च तय की गई है।

सुनवाई के दौरान किसने क्या कहा :

आज सुप्रीमकोर्ट में सुनवाई के दौरान वरिष्ठ अधिवक्ता और पुनर्विचार याचिका दाखिल करने वाले प्रशांत भूषण ने अदालत से कहा कि 2जी घोटाला और कोयला घोटाले में भी मैं व्हिसल ब्लोअर से दस्तावेज लाया था।

वहीँ इस मामले में केंद्र सरकार का पक्ष रख रहे अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने कोर्ट में कहा कि अगर राफेल डील में सीबीआई जांच कराई जाती है तो इससे देश को बड़ा नुकसान होगा।

मामले की सुनवाई कर रहे चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा, पहला सवाल तो ये उठता है कि अगर मामला भ्रष्टाचार का है तो अदालत को सबूतों और दस्तावेजों को नहीं देखना चाहिए?

इस पर अटॉर्नी जनरल ने कहा- इसे ऐसे नहीं देखा जाना चाहिए क्योंकि मामला रक्षा और सीक्रेट से जुड़ा हुआ है।

अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने कहा कि अधिवक्ता प्रशांत भूषण जिन दस्तावेजों पर भरोसा कर रहे हैं, वे रक्षा मंत्रालय से चुराए गए हैं। राफेल सौदे से जुड़े दस्तावेजों की चोरी होने के मामले की जांच चल रही है।

प्रशांत भूषण ने कोर्ट में कहा कि जब प्राथमिकी दायर करने और जांच के लिए याचिका दाखिल की गईं तब राफेल पर महत्वपूर्ण तथ्यों को दबाया गया। कोर्ट ने कहा है कि वह ऐसे किसी भी पूरक हलफनामों अथवा अन्य दस्तावेजों पर गौर नहीं करेगा जो उसके समक्ष दखिल नहीं किए गए हैं।

प्रशांत भूषण ने कोर्ट से कहा कि अगर तथ्यों को दबाया नहीं गया होता तो सुप्रीम कोर्ट ने राफेल सौदा मामले में प्राथमीकि और जांच संबंधी याचिका को खारिज नहीं किया होता।

कोर्ट ने राफेल संबंधी कोई भी अतिरिक्त दस्तावेज लेने से इंकार कर दिया है। वकील प्रशांत भूषण दलील रख रहे हैं।

अटॉर्नी जनरल ने कहा कि राफेल पर ‘द हिंदू’ की आज की रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई को प्रभावित करने के समान है जो अपने आप में अदालत की अवमानना है।

अटॉर्नी जनरल ने राफेल पर पुनर्विचार याचिका और गलत बयानी संबधी आवेदन खारिज करने का अनुरोध करते हुए कहा है कि ये चोरी किए गए दस्तावेजों पर आधारित है।

अटॉर्नी जनरल ने कहा कि याचिकाकर्ता ने राफेल सौदे पर जिन दस्तावेजों पर भरोसा किया है वे गोपनीय हैं और ये आधिकारिक गोपनीयता कानून का उल्लंघन हैं। प्रशांत भूषण जिन दस्तावेजों पर भरोसा कर रहे हैं, वे रक्षा मंत्रालय से चुराए गए हैं।

प्रधान न्यायाधीश ने अटॉर्नी जनरल से भोजनावकाश के बाद यह बताने को कहा कि राफेल सौदे से जुड़े दस्तावेजों के चोरी होने पर क्या कार्रवाई की गई?

उन्होंने कहा कि प्रशांत भूषण को सुनने का यह अर्थ नहीं है कि सुप्रीम कोर्ट राफेल सौदे के दस्तावेजों को रिकॉर्ड में ले रहा है। राफेल सौदे से जुड़े दस्तावेजों की चोरी होने के मामले की जांच चल रही है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें