राफेल डील के बाद अनिल अंबानी का माफ़ हुआ 1100 करोड़ रूपये टेक्स

नई दिल्ली। एक फ्रेंच अख़बार ने दावा किया है कि राफेल डील के बाद उधोगपति अनिल अंबानी की कम्पनी पर बकाया 162.6 मिलियन डॉलर का टेक्स माफ़ किया गया ।

फ्रेंच अख़बार ले मॉन्डे (Le Monde) में प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा गया है कि राफेल डील के बाद फ़्रांस की सरकार ने अनिल अंबानी की कम्पनी पर बकाया टेक्स को रद्द कर दिया। यह फैसला भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फ़्रांस दौरे के बाद हुआ।

गौरतलब है कि अनिल अंबानी की टेलीकॉम कंपनी “रिलायंस अटलांटिक फ्लैग फ़्रांस” फ़्रांस में रजिस्टर्ड है। रिपोर्ट के मुताबिक अनिल अंबानी की कंपनी के बारे में कथित तौर पर फ्रांस के अधिकारियों ने जांच की। अधिकारियों ने पाया कि 2007 से 2010 के बीच अनिल अंबानी की कंपनी पर 60 मिलियन यूरो टैक्स बकाया था।

रिलायंस अटलांटिक फ्लैग फ्रांस ने 7.6 यूरो टैक्स के रूप में देने का प्रस्ताव दिया लेकिन फ्रांस के अधिकारियों ने आगे इस मामले की दोबारा जांच करने से इंकार कर दिया। 2010 से 2012 के बीच एक और जांच फ्रांस के अधिकारियों ने की थी। इस बार अनिल अंबानी की कंपनी को 91 मिलियन यूरो टैक्स के रूप में देने को कहा गया था।

रिपोर्ट में कहा गया है कि अनिल अंबानी की कंपनी पर बकाया टेक्स पीएम नरेंद्र मोदी के फ़्रांस दौरे के बाद माफ़ किया गया। अप्रैल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस की कंपनी दसॉ एविएशन के साथ राफेल डील की घोषणा की।

गौरतलब है कि राफेल डील को लेकर विपक्ष लगातार कथित अनियमितताओं के आरोप लगा रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार पीएम मोदी पर राफेल डील को बदलवाने के आरोप लगा रहे हैं। उनका कहना है कि अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाने के लिए राफेल डील बदली गयी और एचएएल की जगह अनिल अंबानी की नई कंपनी रिलायंस डिफेन्स को ऑफसेट पार्टनर बनाया गया।

अब राफेल डील के बाद फ़्रांस सरकार द्वारा अनिल अंबानी की कंपनी का 1100 करोड़ रुपये का टेक्स माफ़ किये जाने की खबर फ़्रांस के मीडिया की सुर्खियां बनने के बाद भारत में विपक्ष पीएम मोदी पर अपने हमले और तेज कर सकता है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें