राजस्थान में अपनी ही पार्टी की सरकार को घेर रहे दो बीजेपी विधायक

जयपुर। राजस्थान विधानसभा में आज पेश किये गए अपराध दंड संहिता (राजस्थान संशोधन) बिल के खिलाफ राजस्थान बीजेपी के दो विधायकों ने खुले आम सरकार का विरोध शुरू कर दिया है। उन्होंने इसे वसुंधरा राजे सरकार का काला कानून बताते हुए राज्य की बीजेपी सरकार पर हमला बोला।

राज्य के पूर्व मंत्री घनश्याम तिवाड़ी और विधायक नरपत रजवी ने वसुंधरा राजे सरकार के प्रतावित कानून करार दते हुए उनके शासनकाल को आपातकाल जैसा बताया।

मीडिया से बात करते हुए दोनो विधायकों ने कहा कि वसुंधरा सरकार का प्रस्तावित कानून भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने का प्रयास है। उन्होंने कहा कि सरकार ऐसा कानून बनाना चाहती कि उसके भ्रष्टाचार पर कोई ऊँगली न उठा सके। बीजेपी विधायकों ने कहा कि वे इस प्रस्तावित काले कानून के खिलाफ सदन से सड़क तक लड़ेंगे और इसका विरोध जारी रखेंगे।

गौरतलब है कि वसुंधरा सरकार में मंत्री रहे घनश्याम तिवाड़ी पहले भी वसुंधरा राजे सरकार में भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाते रहे हैं। उन्होंने कई मंचो से राजस्थान की बीजेपी सरकार को राज्य में फैले भ्रष्टाचार के लिए दोषी करार देते हुए राज्य में नेतृत्व परिवर्तन की मांग भी कर चुके हैं।

इससे पहले आज सुबह विधानसभा में जैसे ही बिल पेश किया गया, मुख्य विपक्षी कांग्रेस सदस्यों ने इसका विरोध करते हुए जमकर हंगामा काटा। जिसके अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करनी पड़ी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें