ये है रेहाना फातिमा की हकीकत

नई दिल्ली। केरल के सबरीमाला के अयप्पा मंदिर में दो बार प्रवेश करने की कोशिश कर चुकी जिस रेहाना फातिमा का नाम मुस्लिम लड़की के तौर मीडिया में सामने आया। अब उसका नाम सूर्या गायत्री(31) है और वह बीएसएनएल में इंजीनियर के पद पर कार्यरत है।

सबरीमाला के अयप्पा मंदिर में प्रवेश करने के लिए रेहाना उर्फ़ सूर्या गायत्री ने असफल प्रयास किया। जिसके बाद सबरीमाला मंदिर के पुरुष अनुयायी भड़क गए और रेहाना के घर को निशाना बनाया। उसके घर में तोड़फोड़ की गयी और सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश नहीं करने की हिदायत भी दी गयी।

रेहाना एक सामान्य मुस्लिम परिवार में पैदा हुई थी। उसने विश्व हिन्दू परिषद के कोच्चि स्थित एक केंद्र में अद्वैत वेदान्त की शिक्षा भी ग्रहण की थी। रेहाना का कहना है कि उसने हिन्दू पति चुना इसलिए मुस्लिम जमात के लोग उसके पीछे पड़े हैं। रेहाना फातिमा के दो बच्चे भी हैं। रेहाना जिस फिल्म प्रोड्यूसर मनोज के श्रीधर को अपना पति बता रही है, उसकी फेसबुक प्रोफ़ाइल में रेहाना को पत्नी नहीं बल्कि ओपन रिलेशनशिप में बताया गया है।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक रेहाना ने कहा कि उसने हिन्दू धर्म के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए विहिप के केंद्र में तीन साल का पाठ्यक्रम ज्वाइन किया था। रेहाना ने कहा कि वह अपने परिवार के लोगों द्वारा थोपे गए ड्रेस कोड (हिजाब) के खिलाफ थी।

सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करने की कोशिशों के बाद सुर्ख़ियों में आयी रेहाना फिल्म प्रोड्यूसर मनोज के श्रीधर के साथ खुले संबध (ओपन रिलेशनशिप) में रह रही है। केरल मुस्लिम जमात काउंसिल ने रेहाना को मुस्लिम समुदाय से निष्कासित कर दिया है।

अयप्पा मंदिर में प्रवेश की कोशिशो पर रेहाना का कहना है कि ये पूरी तरह मेरी इच्छा थी कि मैं अयप्पा को देखूं क्योंकि मैं सभी धर्मों पर विश्वास और सम्मान रखती हूं साथ ही सारे रीति-रिवाजों का पालन करती हूं।

इंडिया टुडे के मुताबिक 2014 में रेहाना ने कोच्चि में मॉरल पोलिसिंग के खिलाफ ‘किस ऑफ लव’ कैम्पेन में भी हिस्सा लिया था। रेहाना को लेकर तब भी विवाद हुआ था जब उनके पार्टनर मनोज ने किस की वीडियो क्लिप फेसबुक पर शेयर की थी। इस साल मार्च में भी सुर्खियों में आया था जब रेहाना ने अपनी टॉपलेस तस्वीर अपलोड की थी। एक तस्वीर में रेहाना दो तरबूजों के साथ नज़र आ रही थीं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें