यूपी में कांग्रेस को किनारे कर सपा-बसपा के बीच गठबंधन की आहट

नई दिल्ली। जहाँ एक तरफ 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले विपक्ष के संयुक्त गठजोड़ महागठबंधन बनाये जाने के प्रयास किये जा रहे हैं वहीँ खबर आ रही है कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी को मिलाकर कांग्रेस को किनारे करने की कवायद शुरू हो गयी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बसपा के बीच गठबंधन को लेकर फॉर्मूला तय हो चूका है। इस गठबंधन में राष्ट्रीय लोकदल को भी शामिल किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि उत्तर प्रदेश में प्रस्तावित गठबंधन कांग्रेस को जगह नहीं दी गयी है जबकि सपा, बसपा के साथ राष्ट्रीय लोकदल को शामिल किया जा रहा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक सीटों का बंटवारा भी तय हो चूका है। 80 लोकसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश में बसपा को 38, सपा को 37 तथा रालोद को तीन सीटें देना तय हुआ है। मीडिया रिपोर्ट्स को सही माने तो इस प्रस्तावित गठबंधन का एलान 15 जनवरी को बसपा सुप्रीमो मायावती के जन्मदिन के अवसर पर किया जाएगा।

हालाँकि गठबंधन की ख़बरें मीडिया में आने के बाद अभी किसी भी राजनैतिक दल ने आधिकारिक रूप से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। लेकिन यदि मीडिया रिपोर्ट्स को सही माना जाए तो 2019 के लोकसभा चुनाव में एक बार फिर सेकुलर मतो का विभाजन तय है और बीजेपी को इसका भरपूर फायदा मिलेगा।

फिलहाल देखना है कि मीडिया में आयी गठबंधन की यह खबर आने वाले समय में कितनी खरी उतरती है। चूँकि मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का बसपा और सपा से गठबंधन नहीं हो सका इसलिए माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में सपा बसपा कांग्रेस के रुख का इंतजार करना नहीं चाहतीं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें