उत्तर प्रदेश

यूपी निकाय चुनावो में बड़ी ख़ामोशी से केजरीवाल से ज़्यादा सीटें ले गए ओवैसी

लखनऊ ब्यूरो। उत्तर प्रदेश में हुए निकाय चुनावो में आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) बड़ी ख़ामोशी से कई जगह फतह करने में सफल रही है। ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम की परफॉर्मेंस केजरीवाल की आम आदमी पार्टी से कहीं बेहतर रही है।

निकाय चुनावो के परिणामो पर नज़र डालने से पता चलता है कि आम आदमी पार्टी ने 3 पार्षद सीटों पर जबकि एआईएमआईएम ने 12 पार्षद सीटों पर जीत हासिल की है।

इस चुनाव में एआईएमआईएम ने 12 पार्षद सीटों पर, नगर पालिका सदस्य की 7 सीटों पर नगर पंचायत अध्यक्ष की एक सीट पर और नगर पंचायत सदस्य की 6 सीटों पर भी कब्जा जमाया है।

गौरतलब है कि यूपी के विधानसभा चुनाव में पार्टी को 0.02 प्रतिशत यानि 205232 वोट मिले थे। उससे पहले महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में पार्टी ने 2 सीटें जीती थीं।

वहीँ आम आदमी पार्टी ने 3 पार्षद पदों पर, नगर पालिका सदस्य के 17 पदों पर, नगर पंचायत अध्यक्ष के 2 पदों पर और नगर पंचायत सदस्य के 19 पदों पर जीत हासिल की है। आम आदमी पार्टी की उत्तर प्रदेश में ये शुरुआत है।

आम आदमी पार्टी की नज़र 2019 के लोकसभा चुनावो पर टिकी है। पार्टी 2019 के आम चुनावो को ध्यान में रखकर राज्य में अपना संगठन मजबूत करने में जुटी है। गौरतलब है कि पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ा था। हालाँकि वे सफल नहीं हुए लेकिन उन्होंने मुकाबले को बेहद कड़ा बना दिया था।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Facebook

Copyright © 2017 Lokbharat.in, Managed by Live Media Network

To Top