यूपी के सीएम बाबा हैं, वे जानते ही नहीं लेपटॉप क्या होता है: अखिलेश

लखनऊ ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा हाल ही में गंगा एक्सप्रेस वे बनाये जाने के एलान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पलटवार किया है।

कन्नौज में पत्रकारों से बात करते हुए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि जितने लेपटॉप कन्नौज में बांटे हैं, घरो में जाकर देख लीजिये उसके बाद किसी के घर में कोई लेपटॉप नहीं आया।

अखिलेश यादव ने कहा कि हमारे सीएम बाबा हैं, वो लेपटॉप जानते नहीं क्या होता है, तो मिलेगा कैसे ? उन्होंने आगे कहा कि गंगा की सफाई की नहीं हुई इसलिए ध्यान हटाने के लिए गंगा एक्सप्रेस वे ले आये।

गौरतलब है कि प्रयागराज में कुंभ मेले में केबिनेट की बैठक के आयोजन के दौरान उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने दुनिया के सबसे बड़े एक्सप्रेस वे के निर्माण का एलान किया था।

मेला क्षेत्र में स्थित इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर (आईसीसीसी) में मंत्रिमंडल की बैठक के बाद मीडिया सेंटर में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि उत्तर प्रदेश के पश्चिमी भाग को प्रयागराज से जोड़ने के लिए मंत्रिमंडल ने गंगा एक्सप्रेसवे को सैद्धांतिक सहमति दी है।

उन्होंने दावा किया था कि यह एक्सप्रेसवे मेरठ, अमरोहा, बुलंदशहर, बदायूं, शाहजहांपुर, फर्रुखाबाद, हरदोई, कन्नौज, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ होते हुए प्रयागराज आएगा। यह एक्सप्रेसवे जब बनेगा तो दुनिया का सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे होगा। यह लगभग 600 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेसवे होगा। हालाँकि योगी आदित्यनाथ का वह दावा गलत निकला जिसमे उन्होंने प्रस्तावित गंगा एक्सप्रेस वे को दुनिया का सबसे बड़ा एक्सप्रेस वे कहा था।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें