यूनान में पहली सरकारी मस्जिद हुई तैयार, शिया – सुन्नी पढ़ेंगे एक साथ नमाज़

नई दिल्ली(एजेंसी)। यूनान में सरकार द्वारा बनवाई गयी पहली मस्जिद तैयार हो गयी है। इस मस्जिद के निर्माण का प्रस्ताव यूनानी संसद में तीन साल पहले पास हुआ था। इस मस्जिद के निर्माण की पूरी लागत सरकार की तरफ से दी गयी है। इतना ही नहीं मस्जिद की देखरेख का कार्य भी सरकार द्वारा ही किया जायेगा।

यूनान के शिक्षा और धार्मिक मामलों के मंत्री कोस्टाज़ ग्यूरोग्लो ने कहा कि यह मस्जिद नमाज़ अदा करने के लिए सितंबर माह से आम लोगों के लिए खोल दी जायेगी। गौरतलब है कि सरकारी ज़मींन पर सरकार द्वारा मस्जिद निर्माण को लेकर स्थानीय स्तर पर आलोचना की भी गयी थी।

ग्यूरोग्लो ने कहा कि इस मस्जिद में यूनानी नागरिको के अलावा पर्यटकों को भी नमाज़ पढ़ने की आज़ादी होगी। उन्होंने कहा कि एथेन्ज़ की मस्जिद व्यक्तिगत प्रापर्टी में शुमार नहीं होगी बल्कि यह सार्वजनिक होगी। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि इस मस्जिद के निर्माण से लोगों को नमाज़ अदा करने में आसानी होगी।

गौरतलब है कि लाखो की मुस्लिम आबादी वाली युनान की राजधानी एथेन्ज़ में जगह की कमी के चलते नमाज़ पढ़ने के लिए बेस्मेंट या स्टोर रूम का प्रयोग करना पड़ता हैं।

मुस्लिम लोगों की दिक्क्तों को देखते हुए अगस्त 2016 में यूनान के सांसदों ने औद्योगिक शहर में मस्जिद के निर्माण की योजना को मंज़ूरी दी थी। इसके बाद सरकारी ज़मीन पर मस्जिद बनाने का काम शुरू किया गया था।

नव निर्मित मस्जिद में शिया और सुन्नी दोनों समुदाय के लोग एक साथ नमाज़ पढ़ सकेंगे। मस्जिद आम लोगों के लिए खोले जाने के बाद पहली नमाज़ यूनान के शाही इमाम की इमामत में अदा की जाएगी।

इस मस्जिद में कई अत्याधुनिक सुविधाये हैं। नमाज़ पढ़ने के लिए वातानुकूलित कमरों के अलावा मस्जिद को सुसज्जित करने के लिए बेहतर इंटीरियर किया गया है।

मस्जिद के इमाम ज़की अहमद ने कहा कि मस्जिद का निर्माण कार्य पूरा हो गया है और अब इसको शुरू करने के लिए ज़रूरी लोगों की न्युक्ति होना बाकी है। मस्जिद में स्टाफ के लिए न्युक्ति का काम 7 जुलाई को देश में होने वाले चुनाव संपन्न होने के बाद शुरू होगा।

 

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें