मोदी सरकार के इस फैसले से होगी रेल यात्रियों की जेब और ज़्यादा ढीली

नई दिल्ली। रेलवे की किराया समीक्षा समिति ने रेलवे बोर्ड को कुछ ऐसे सुझाव दिए हैं जिन्हें अगर स्वीकार कर लिया गया तो जल्द ही रेल में सफर करने वाले लोगों को जेब पहले से अधिक ढीली होगी।

सुझावों के अनुसार ट्रेन में पसंदीदा बर्थ के लिए तथा त्यौहारों के मौके पर अतिरिक्त किराया देने का प्रस्ताव है। इतना ही नहीं प्रीमियम ट्रेनों में फ्लेक्सी फेयर सिस्टम की समीक्षा करने के लिए गठित की गई किराया मूल्य समिति ने यह सुझाव दिया है कि रेलवे को एयरलाइंस और होटलों की तरह ही डायनामिक मूल्य मॉडल अपनाना चाहिए।

वहीँ ऐसी ट्रेनें जिनकी टाइमिंग यात्रियों के लिए सुविधाजनक होती है, उसके किराए भी बढ़ाए जा सकते हैं। समिति ने यह भी सिफारिश की है कि रेलवे को फ्लैट किराए का सिस्टम खत्म करते हुए त्योहारों के वक्त किराया बढ़ा देना चाहिए और खाली दिनों में किराया कम करना चाहिए।

किराया समीक्षा समिति में रेलवे बोर्ड के कुछ अधिकारी, नीति आयोग के सलाहकार रवींद्र गोयल, एयर इंडिया की कार्यकारी निदेशक (राजस्व प्रबंधन) मीनाक्षी मलिक, प्रोफेसर एस श्रीराम और दिल्ली के ली मेरिडियन होटल की राजस्व निदेशक इती मणि शामिल हैं।

समिति ने अपनी यह रिपोर्ट सोमवार को रेलवे बोर्ड को दी है। इसमें फ्लेक्सी फेयर सिस्टम में कुछ बदलाव करने के उद्देश्य से यह सारे सुझाव दिए गए हैं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें