केंद्रीय मंत्री ने मॉब लींचिंग के आरोपियों को माला पहनाई, मिठाई खिलाकर किया स्वागत

रांची। झारखंड के रामगढ़ में बीफ ले जाने के शक में एक मुस्लिम कारोबारी की पीट पीट कर हत्या के मामले में आरोपियों को हाईकोर्ट से ज़मानत मिलने के बाद केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने न सिर्फ आरोपी को मिठाई खिलाई बल्कि माला पहनाकर स्वागत किया।

बता दें कि झारखंड के रामगढ़ में बीफ ले जाने के शक में मारे गए अलीमुद्दीन की हत्या के 8 आरोपियों को झारखंड हाई कोर्ट ने जमानत दे दी। इस मामले में एक नाबालिंग सहित ग्यारह लोगों को आरोपी बताया गया था और निचली अदालत ने नाबालिंग को बाल सुधार गृह भेज दिया था। निचली अदालत ने इस मामले में आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

इसके बाद निचली अदालत के आदेश को झारखंड हाईकोर्ट में चुनौती दी गयी थी। हाईकोर्ट में सबूत के तौर पर पेश की गयी वीडियो फुटेज को मानने से इनकार कर दिया गया। इस वजह से 8 लोगों को जमानत मिल गई। अभी तीन अन्य लोगों की तरफ से ज़मानत अर्जी दाखिल नहीं की गयी है।

आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही पूर्व बीजेपी विधायक शंकर चौधरी ने गिफ्तारी का विरोध करते हुए आरोपियों को तुरंत रिहा किये जाने के लिए आंदोलन किया था। वहीँ आज आरोपियों की रिहाई के बाद बीजेपी के कार्यालय में खुशियां मनाई गयीं, मिठाई बंटी और आरोपियों को हीरो बताया गया।

इस मौके पर मौजूद केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने ज़मानत पर रिहा हुए सभी आठो आरोपियों का माला पहनाकर स्वागत किया। इतना ही नहीं केंद्रीय मंत्री ने आरोपियों को अपने हाथ से मिठाई भी खिलाई।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें