मुलायम अजीत मुलाक़ात से यूपी में गठजोड़ की सम्भावना बनी

l_Ajit-Singh-Mulayam-Singh

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले बिधानसभा चुनावो के लिए राजनैतिक समीकरण बनना शुरू हो गए हैं । इसी क्रम में समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के बीच गठबंधन होने के आसार नजर आ रहे हैं। इस संबंध में रालोद के अजीत सिंह ने रविवार को मुलायम सिंह यादव से उनके घर पर मुलाकात की। इससे पहले यूपी सरकार में मंत्री शिवपाल सिंह अजित सिंह से मिलने उनके आवास पहुंचे थे।

हालांकि गठबंधन पर अंतिम फैसला दिल्ली में होने वाली शिवपाल और अजीत सिंह की बैठक के बाद तय होगी। सूत्रों की मानें तो सपा की नजर पश्चिम यूपी के वोट बैंकों पर सेंध लगाने की है। इससे यूपी में सपा दोबारा सरकार बना सकें। ये समाजवादी पार्टी का नया दांव बताया जा रहा है। यूपी में कितनी सीटों पर आरएलडी के प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे इसका फैसला अजीत सिंह और सपा सुप्रीमों मुलायम सिंह के साथ होने वाली बैठक के बाद तय होगा।

गठबंधन से दोनों दलों को होगा फायदा
सपा और रालोद का गठबंधन हो जाता है तो यह प्रदेश की राजनीति में निर्णायक मोड़ साबित हो सकता है। 2012 के विधानसभा चुनाव में सपा की ओर से 401 उम्मीदवार मैदान में उतारे गए थे और पार्टी को 224 सीटों के साथ बहुमत हासिल हुआ था।

2012 में पार्टी को कुल मतों के 29.13 प्रतिशत मत मिले थे। रालोद ने इसी चुनाव में 46 सीटों पर चुनाव लड़ा था जिसमें से उसके हाथ 9 सीटें लगी थी और उसे कुल वोटों का 2.33 प्रतिशत मिला था। अगर इन दोनों दलों के प्रतिशत जोड़ दिए जाएं तो कुल 31.46 प्रतिशत तक पहुंच जाता है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *