महाराष्ट्र: बारिश ने धो डाला स्मार्ट सिटी का सरकारी दावा, विधानसभा में घुसा पानी, बिजली गुल

नागपुर। जहाँ एक तरफ सरकार देश के कई शहरो को स्मार्ट सिटी की तर्ज पर विकसित करने के दावे कर रही है वहीँ नागपुर में बारिश ने सरकार के स्मार्ट सिटी के दावे धो डाले हैं।

नागपुर में विधानसभा का सत्र चल रहा है लेकिन भारी बारिश के कारण विधानसभा का सत्र बाधित हो गया है। विधानसभा परिसर में पानी का जमाव हो गया है। पावर सब स्टेशन ने भारी बारिश को देखते हुए पावर सप्लाई बंद कर दिया है।

बताया जा रहा है कि सुरक्षा के मद्देनजर पावर सप्लाई बंद किया गया है क्योंकि पावर सप्लाई स्टेशनों में भी पानी भर गया है। स्थति यह है कि कई कार्यालयों में मोमबत्ती जलाकर काम किया जा रहा है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र की दूसरी राजधानी नागपुर में 47 साल के बाद राज्य विधानसभा के मानसून सत्र की मेजबानी कर रहा है। नागपुर समझौता 1953 के अनुसार, विदर्भ क्षेत्र के इस जिले को महाराष्ट्र की दूसरी राजधानी का दर्जा प्राप्त है।

यह चौथा मौका होगा जब सामान्य रूप से मुंबई में आयोजित होने वाला राज्य विधानसभा का मानसून सत्र नागपुर में आयोजित किया जा रहा है। नागपुर में सत्र चार जुलाई से 20 जुलाई तक चलेगा।

मौसम विभाग की माने तो आज भी महाराष्ट्र में भारी बारिश की आशंका जतायी गयी है, इसलिए महाराष्ट्र के लोगों को अभी बारिश से राहत मिलने की उम्मीद कम ही है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें