महागठबंधन: बीजेपी को हराने के लिए के लिए त्याग करने को तैयार हैं अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा है कि वे बीजेपी को हराने के लिए विपक्ष के महागठबंधन के पक्षधर हैं और यदि ज़रूरत पड़ी और दो चार सीटें ऊपर नीचे रहीं तो कोई त्याग करने से पीछे नहीं हटेंगे।

रविवार को करहल विधानसभा क्षेत्र के गांव जौराई में सपा नेता हरिप्रसाद की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद एक जनसभा को अपने सम्बोधन में अखिलेश यादव ने गठबंधन का पुरजोर समर्थन किया।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के खिलाफ लड़ाई लंबी है। इस लड़ाई को पुराने लोगों ने यहां तक पहुंचाया है। इस लड़ाई को हमें और नौजवानों को लड़ना है। इसके तहत हमने बसपा से गठबंधन किया है।

उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि जब हमारा पारिवारिक झगड़ा चल रहा था तो बीजेपी के लोग हमे औरंगजेब कहते थे लेकिन अब बीजेपी के लोगों ने हमारे बंगले के साथ नेताजी का बंगला भी खाली करा लिया।

अखिलेश यादव ने सिर्फ 2019 के लोकसभा चुनावो के लिए ही नहीं बल्कि विधानसभा चुनाव के लिए भी महागठबंधन की पैरवी की। उन्होंने सपा कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे बसपा कार्यकर्ताओं का सहयोग करें।

उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि कहा कि हमने गठबंधन ऊपर किया है। वह नीचे स्तर पर बसपा कार्यकर्ताओं का सहयोग करें उनका साथ दें और उनसे गठबंधन करें।

विधानसभा चुनाव में गठबंधन को लेकर अखिलेश यादव ने इशारो में कहा कि अगर विधानसभा चुनाव में बसपा से सपा की सीटें कम आती हैं और बसपा को समर्थन की जरूरत पड़ी है तो सपाई त्याग कर देंगे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *