मलाला को नोबेल पुरस्कार दिए जाने का श्री श्री को मलाल, पूछा – ‘मलाला ने ऐसा क्या काम किया’

Malala-Yousafzai

मुंबई । खुद को संत कहने वाले श्री श्री रवि शंकर को मानव अधिकार कार्यकर्ता मलाला युसुफ़ज़ई को नोबेल पुरस्कार मिलने का मलाल है । रविशंकर ने कहा कि मलाला युसुफजई नोबेल पुरस्‍कार लायक नहीं है। उन्‍होंने कहा,’उस लड़की ने कुछ भी नहीं किया।’

उनसे पूछा गया था कि मलाला को पुरस्‍कार मिला तो क्‍या गलत था? इससे पहले एक अंग्रेजी अखबार ने रिपोर्ट दी थी कि श्रीश्री रविशंकर ने कहा था कि उन्‍हें नोबेल पुरस्‍कार ऑफर किया गया था लेकिन उन्‍होंने मना कर दिया था। उन्‍होंने कहा कि वे काम करने में विश्‍वास करते हैं न कि सम्‍मान में।

रविशंकर ने यह बयान महाराष्‍ट्र के सूखा पीडि़त लातूर जिले में दिया था। वहां पर वे सूखा राहत काम का जायजा लेने गए थे। वहीं आर्ट ऑफ लिविंग की ओर से बयान जारी कर इस रिपोर्ट का खंडन किया गया। आर्ट ऑफ लिविंग की ओर से कहा गया कि अंग्रेजी अखबार के रिपोर्टर ने रविशंकर के बयान को मिसकोट किया। इसके लिए उन्‍हें माफी मांगनी चाहिए।

बयान के अनुसार, ‘पूछा गया था कि क्‍या आप यह काम नोबेल पुरस्‍कार के लिए कर रहे हैं। इस पर उन्‍होंने जवाब दिया, बिल्‍कुल नहीं। मैं एक पुरस्‍कार से क्‍या करूंगा। हम सालों से सामाजिक काम कर रहे हैं और यह पुरस्‍कारों के लिए नहीं है। जब एक 16 साल की लड़की को बिना कुछ किए पुरस्‍कार मिल जाता है तो आपको शांति पुरस्‍कार पाने के लिए कुछ करने की जरूरत नहीं। इसके पीछे राजनीतिक कारण भी काम करते हैं।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें