ममता बनर्जी ने की मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे की पेशकश, बीजेपी को लेकर दिया ये बयान

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने पद से इस्तीफा देने की पेशकश की है। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ममता बनर्जी ने कहा कि वे अब राज्य का मुख्यमंत्री नहीं रहना चाहतीं।

प्रेस कांफ्रेंस में ममता बनर्जी ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि केंद्र द्वारा यहाँ भेजे गए केंद्रीय बलों ने हमारे खिलाफ काम किया। आपातकाल जैसी स्थिति बना दी गई। हिंदू-मुस्लिम विभाजन किया गया और वोटों को बांटा गया।

ममता ने अपना दर्द साझा करते हुए कहा कि हमने चुनाव आयोग से शिकायत की लेकिन कुछ नहीं हुआ। मैंने बैठक की शुरुआत में ही कह दिया था कि मैं मुख्यमंत्री नहीं बनी रहना चाहती हूं।

गौरतलब है कि केंद्र की मोदी सरकार और ममता बनर्जी सरकार के बीच काफी दिनों से टकराव चल रहा है। लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी और टीएमसी में ज़बरदस्त टकराव देखने को मिला। यहाँ तक कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में भी हिंसा और आगजनी की घटनाएं हुईं।

लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में ज़बरदस्त सेंधमारी करते हुए 14 सीटों पर कब्ज़ा जमाया है। वहीँ राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को 22 सीटें मिली हैं। जबकि पिछले लोकसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस ने 34 सीटें जीती थीं।

राज्य में ममता बनर्जी ने वर्षो से जमे वामपंथियों को उखाड़ फेंका था। ममता बनर्जी ने भले ही कम्युनिस्टों को हाशिये पर कर दिया लेकिन अब उनकी पार्टी को बीजेपी से कड़ी चुनौती मिल रही है। ममता बनर्जी का आरोप है कि बीजेपी अपने सांप्रदायिक एजेंडे से राज्य के लोगों को धर्म के आधार पर बाँट रही है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें