ममता का आरोप: ईवीएम और चुनाव आयोग के दम पर लोकसभा चुनाव जीती बीजेपी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आरोप लगाया है कि भारतीय जनता पार्टी ईवीएम, चुनाव आयोग और केंद्रीय सुरक्षाबलों के दम पर लोकसभा चुनाव जीती हैं। उन्होंने एक बार ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से चुनाव कराये जाने की मांग की है।

कोलकाता में रैली को संबोधित करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि इस बार लोकसभा चुनाव ‘इतिहास’ नहीं, ‘रहस्य’ है। रैली में ममता बनर्जी ने एक तरह से चेतावनी देते हुए, ‘कुछ बीजेपी नेता कहते हैं कि टीएमसी नेताओं को बसों से खींचों, मैं बीजेपी से कहती हूं कि अगर हमने इस तरह से करना शुरू कर दिया तो क्या झेलने के लायक होंगे?

रैली से पहले ममता बनर्जी ने ट्विटर पर राज्य में वाम दल के 34 वर्षों के शासन के दौरान सभी ‘‘शहीदों” को श्रद्धांजलि दी और लोगों से देश में लोकतंत्र बहाल करने के लिए लड़ने का अनुरोध किया। उन्होंने 13 युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भी याद किया जो आज के दिन 1993 में पुलिस की गोलीबारी में मारे गए थे।

गौरतलब है कि जब 1993 में ममता बनर्जी युवक कांग्रेस की अध्यक्ष थीं तब राज्य में वामदलों की सरकार थीं। इस दौरान पुलिस की गोलीबारी में युवक कांग्रेस के 13 कार्यकर्त्ता मारे गए थे।

ममता बनर्जी ने कहा, ‘‘आज ऐतिहासिक 21 जुलाई शहीद दिवस है। आज के दिन 26 साल पहले पुलिस की गोलीबारी में 13 युवा कार्यकर्ताओं की हत्या की गई थी। तब से हम इस दिन को शहीद दिवस के तौर पर मनाते हैं।

ममता बनर्जी ने कहा, ‘‘21 जुलाई 1993 को प्रदर्शन की मुख्य मांग थी ‘कोई आईडी कार्ड नहीं, कोई वोट नहीं।’ इस साल हमने लोकतंत्र को बहाल करने का आह्वान किया है कि ‘कोई मशीन नहीं, मत पत्रों को वापस लाओ। ‘

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें