मप्र: कांग्रेस का तेजी से चल रहा घोषणा पत्र पर काम, कमलनाथ बोले ‘हम आश्वासन नहीं वचन देंगे’

भोपाल ब्यूरो: मध्य प्रदेश में इस वर्ष होने जा रहे विधानसभा चुनावो की तैयारी में जुटी कांग्रेस का पूरा ध्यान घोषणा पत्र तैयार करने में लगा है. घोषणापत्र में जनता की मांगो को शामिल करने के लिए गाँव पंचायत स्तर से फीडबैक मंगवाई जा रही है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पहले ही कह चुके हैं कि वे जनता का घोषणापत्र तैयार करने के पक्ष में हैं . इसलिए ग्राम पंचायत स्तर पर जनता से फीडबैक ली जा रही है.

कांग्रेस सूत्रों की माने तो  घोषणा पत्र का ड्राफ्ट तैयार करने के लिए 30 जुलाई डेडलाइन रखी गयी है और 15 अगस्त तक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को घोषणा पत्र का ड्राफ्ट सौंप दिया जाएगा. इसके बाद इस ड्राफ्ट पर आगे की कार्यवाही दिल्ली से शुरू होगी.

मध्य प्रदेश कांग्रेस द्वारा घोषणापत्र तैयार करने के लिए बनायीं गयी समिति की बैठक राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ के आवास पर सम्पन्न हुई जिसमे समिति के चार सदस्य मीनाक्षी नटराजन, विवेक तन्खा, नरेंद्र नाहटा तथा विधानसभा में उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह मौजूद रहे .अभी इस समिति में 6अन्य सदस्यों की न्युक्ति भी होनी है .

वहीँ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने राज्य कर्मचारियों के संगठनों के साथ एक बैठक में कहा कि हम आश्वासन नही देंगे बल्कि वचन देंगे. जो हर हाल में पूरा किया जायेगा.

कर्मचारी नेताओं ने कहा कि सरकार कर्मचारी संगठनों को तोड़ने की फैक्टरी चला रही है. बैठक में जिस तरह कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया उससे गदगद नाथ ने कहा कि दुख इस बात का नहीं कि सरकार ने आश्वासन या मांगें पूरी नहीं की, बल्कि इसका है कि कर्मचारी और उनके संगठनों को अपमानित किया.

इस बैठक में डिप्लोमा इंजीनियर संघ, राजपत्रित अधिकारी संघ, निगम मंडल संघ  जैसे कर्मचारी संगठनो के नेताओं ने भाग लिया. बैठक  में राज्य कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कर्मचारी संगठनों के नेताओं से कहा कि कांग्रेस की सरकार बन्ने पर राज्य के कर्मचारियों  के हितो की अनदेखी नही होने दी जायेगी .

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *