मध्य प्रदेश: ख़ुफ़िया रिपोर्ट से उड़ी बीजेपी की नींद, 80 सीटों तक थम सकती है पार्टी

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनावो से पूर्व बीजेपी के लिए एक बड़ी मुश्किल पैदा हो गयी है। यह मुश्किल प्रतिदिन घट रहे वोट को लेकर है।

इंटेलिजेंस की रिपोर्ट को लेकर एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बीजेपी 92 सीटों पर सिमटती दिख रही है लेकिन ये इंटेलिजेंस रिपोर्ट रिपोर्ट अब से पांच दिन पहले की है। इसलिए जानकार यह मानकर चल रहे हैं कि 28 नवंबर को चुनाव होने से पहले बीजेपी के वोटो में और गिरावट आएगी।

मीडिया रिपोर्ट में इंटेलिजेंस रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा गया है कि कांग्रेस 122 सीटें या इससे अधिक सीटें लेकर सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरेगी। वहीँ बहुजन समाज पार्टी को 6 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं।

इस इंटेलिजेंस रिपोर्ट को सही माना जाए तो राज्य में प्रतिदिन बीजेपी का मतदाता घट रहा है। ख़ुफ़िया विभाग ने अब से पांच दिन पहले ऐसी आशंका जताई है लेकिन अभी चुनाव में करीब 25 दिन का समय बाकी है। इसके बावजूद बीजेपी इस घाटे को रिकवर करने की स्थति में नहीं है।

वहीँ कांग्रेस को लेकर रिपोर्ट में कहा गया है कि अभी पार्टी 122 सीटों से 125 सीटों के पायदान पर खड़ी है और चुनाव आते आते कांग्रेस सीटों की संख्या में बढ़ोत्तरी कर सकती है।

ख़ुफ़िया विभाग की इस रिपोर्ट ने बीजेपी और सीएम शिवराज सिंह चौहान की नींद अवश्य उड़ा दी है। राजस्थान में बीजेपी को अंतर्कलह और बागियों से जूझना पड़ रहा है। छत्तीसगढ़ में भी एंटी इंकम्बेंसी का पूरा पूरा असर दिखाई दे रहा है। ऐसे में यदि बीजेपी तीन अहम राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान को गंवा देती है तो यह उसके लिए आने वाले बड़े तूफान के संकेत से कम नहीं है।

पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावो को 2019 का सेमीफाइनल माना जा रहा है। ऐसे में बीजेपी तीन राज्यों में सत्ता होने के बावजूद भी यदि परास्त होती है तो 2019 के आम चुनाव में केंद्र की सत्ता में वापसी का उसका सपना चकनाचूर हो सकता है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें