मध्य प्रदेश में बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस ने खुले रखे हैं गठबंधन के विकल्प: कमलनाथ

भोपाल। मध्य प्रदेश में इस वर्ष के अंत तक होने जा रहे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस किसी भी राजनैतिक दल के साथ गठबंधन करने को तैयार है। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने ऐसे संकेत दिए हैं।

कमलनाथ ने संकेत दिए हैं कि भाजपा को हराने के लिए उनकी पार्टी राज्य विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी से तालमेल कर सकती है। उन्होंने बुधवार को भोपाल में पत्रकारों के साथ बात करते हुए कहा कि पहले भी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान भी कांग्रेस का सपा के साथ गठबंधन रहा है।

कमलनाथ ने कहा कि वह चाहते हैं की समान विचारधारा वाली पार्टियां चुनाव के दौरान साथ आएं। इसके लिए हम दूसरी पार्टियों से गठबंधन के लिए बातचीत करेंगे।

भाजपा विरोधी गठबंधन बनाए जाने के का कारण बताते हुए कमलनाथ ने कहा कि 2014 में हुए चुनाव में कुल पड़े वोटों में भाजपा ने 31 फीसदी वोट हासिल किए जबकि 69 फीसदी वोट उसके खिलाफ थे। इसके बावजूद भाजपा यह दावा करती है कि लोगों का बहुमत उसके साथ है। उन्होंने कहा कि वे नहीं चाहते कि धर्मनिरपेक्ष वोटों का बंटवारा हो इसलिए वे जल्द ही दूसरी पार्टियों से बात करना शुरू करेंगे।

कमलनाथ का बयान कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण के एक दिन बाद आया है। कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में विपक्ष के दिग्गजों का जमावड़ा लगा था, जिसमें एकजुट विपक्ष की झलक दिखाई पड़ी थी।

कमलनाथ के बयान के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि मध्य प्रदेश में सपा और बसपा के साथ गठबंधन करके कांग्रेस चुनाव लड़ सकती है। इससे पहले उत्तर प्रदेश में राज्य सभा की सीट के लिए हुए चुनाव के दौरान बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी इस बात के संकेत दिए थे कि मध्य प्रदेश में बसपा और कांग्रेस मिलकर चुनाव लड़ सकती है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें