मध्य प्रदेश के कांग्रेस विधायकों ने हाईकमान पर छोड़ा सीएम तय करने का फैसला

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश में आज हुई विधायक दल की बैठक में विधायक दल के नेता का फैसला हाईकमान पर छोड़ दिया है। मध्य प्रदेश में कांग्रेस का सीएम कौन होगा, ये फैसला अब पार्टी आलाकमान करेगा।

इससे पहले आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई। इस बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ए के एंटनी और कुंवर भंवर जितेन्द्र सिंह बतौर पर्यवेक्षक मौजूद रहे।

प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने बताया कि, पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों ने एक प्रस्ताव पारित कर पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को अधिकार दिया है कि वह मुख्यमंत्री के नाम पर अंतिम फैसला करें। कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक आरिफ अकील ने इस आशय का प्रस्ताव विधायकों की बैठक में रखा, जिसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया।

इस बैठक में वे चारो निर्दलीय विधायक भी मौजूद थे जो सरकार बनाने के लिए कांग्रेस को समर्थन दे रहे हैं। बैठक में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, अरुण यादव और विवेक तन्खा सहित अन्य नेता भी बैठक में मौजूद थे।

इससे पहले बुधवार दोपहर को कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्विजय सिंह, अरुण यादव और विवेक तन्खा ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से राजभवन में मुलाकात की और प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने का दावा पेश किया।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर कमलनाथ ने राज्यपाल को सौंपे अपने पत्र में कहा, ‘विधानसभा चुनावों में कांग्रेस प्रदेश में सबसे बड़े दल के तौर पर सामने आई है और कांग्रेस को बहुमत हासिल है।

अब सभी की नज़रें दिल्ली पर लगी हैं। माना जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी देर रात तक मध्य प्रदेश में कांग्रेस के सीएम के नाम का एलान करेंगे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

One Comment on “मध्य प्रदेश के कांग्रेस विधायकों ने हाईकमान पर छोड़ा सीएम तय करने का फैसला”

Comments are closed.