मणिशंकर ने पीएम को कहा ‘नीच’, कांग्रेस ने की कार्रवाही, पूछा ‘क्या मोदी भी ऐसा साहस दिखाएंगे’

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए उनके लिए नीच शब्द का इस्तेमाल किया। इस पर कांग्रेस ने वक़्त की नज़ाकत को पहचाने हुए मणिशंकर अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए उन्हें पार्टी से सस्पेंड कर दिया है।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट कर यह जानकारी साझा करते हुए लिखा कि “यही हैं कांग्रेस का गांधीवादी नेतृत्व व विरोधी के प्रति सम्मान की भावना। कांग्रेस पार्टी ने श्री मनी शंकर अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी कर प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित कर दिया है।क्या मोदी जी कभी यह साहस दिखाएँगे?”

बता दें कि पीएम मोदी पर बाबा साहेब के अपमान का आरोप लगाते हुए मणिशंकर अय्यर ने कहा था कि ”अंबेडकर जी की जो सबसे बड़ी ख्वाहिश थी उसे साकार करने में एक व्यक्ति का सबसे बड़ा योगदान था और उनका नाम था जवाहर लाल नेहरू। अब इस परिवार के बारे में गंदी बातें कहें और वो भी जबकि अंबेडकर जी याद एक बहुत बड़ी इमारतद का उद्घाटन हो रहा है। मुझे लगता है ये आदमी बहुत नीच किस्म का आदमी है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है, ऐसे मौके पर इस प्रकार की राजनीति क्या आवश्यकता है।”

मणिशंकर अय्यर के बयान के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मामले को सूरत की जनसभा में उछालते हुए कहा कि” मैं भले नीच जाति का हूं लेकिन काम ऊंचे किये हैं।” उन्होंने मणिशंकर अय्यर के बयान को गुजरात का अपमान बताया। उन्होंने कहा, “ऊंच-नीच इस देश के संस्कार नहीं हैं, मुगल संस्कार वालों को मेरे जैसे का अच्छा कपड़ा पहनना सहन नहीं होता।

मणिशंकर अय्यर के बयान के बाद डेमेज कण्ट्रोल में जुटी कांग्रेस हरकत में आयी और मणिशंकर अय्यर के बयान पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नाराजगी जताई। .

राहुल गांधी ने कहा मैं उम्मीद करता हूं कि मणिशंकर अय्यर माफी मांगेंगे. राहुल ने ट्वीट किया, “बीजेपी और प्रधानमंत्री लगातार कांग्रेस के खिलाफ गंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं। कांग्रेस की संस्कृति और इतिहास अलग है. मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री के लिए जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है, मैं इसकी सराहना नहीं करता। कांग्रेस पार्टी और मैं उम्मीद करते हैं कि मणिशंकर जी माफी मांगेंगे।”

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें