भारत में नहीं, थाईलैंड के अयोध्या में राम मंदिर बना रहा ‘राम जन्मभूमि निर्माण ट्रस्ट’

नई दिल्ली। ‘मंदिर वहीँ बनाएंगे’ के मुद्दे को लेकर केंद्र और उत्तर प्रदेश की सत्ता तक पहुंची भारतीय जनता पार्टी ने भले ही सत्ता में आने के बाद राम मंदिर निर्माण का मुद्दा ठंडे बस्ते में रख दिया हो लेकिन राम जन्मभूमि निर्माण ट्रस्ट थाईलैंड के अयोध्या(अयुथ्थ्या) में राम मंदिर का निर्माण करने में जुट गया है।

बुधवार को अयुथ्थ्या में राम जन्मभूमि निर्माण ट्रस्ट द्वारा भूमि पूजन और पूरे धार्मिक अनुष्ठान के बाद राम मंदिर के निर्माण का काम शुरू हो गया। थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक से राम जन्मभूमि निर्माण न्यास ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत जन्मेजय शरण ने समाचार एजेंसी पीटीआई को फोन पर बताया कि भारत के अयोध्या में राम मंदिर का मामला सुप्रीम कोर्ट के समक्ष विचाराधीन है।

उन्होंने कहा कि हम राम भक्तों ने यहां राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू किया है। उन्होंने बताया कि थाईलैंड के अयुथ्थ्या में भूमि पूजन और पूरे धार्मिक अनुष्ठान के बाद भव्य राम मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है।

जन्मेजय शरण ने कहा, ‘हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं और उम्मीद करते हैं कि यह हमारे पक्ष में आएगा। अयुथ्थ्या में राम मंदिर निर्माण के बाद भारत के अयोध्या में भी भव्य राम मंदिर बनने का रास्ता निकलेगा।’ गौरतलब है कि अयोध्या में राम मंदिर का मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। सुप्रीमकोर्ट में इस मामले में सुनवाई कर रही है।

ट्रस्ट के अध्यक्ष ने बताया कि बैंकॉक में राम मंदिर का निर्माण भारत को विश्वगुरु के रूप में स्थापित करेगा। इससे भगवान राम की विचारधारा का प्रचार-प्रसार भारत के बाहर भी होगा। बैंकॉक में राम मंदिर के निर्माण का काम चाव फ्राया नदी के किनारे होगा, जोकि शहर के बीचोबीच बहती है।

इतिहास के पन्नों को पलटें, तो 15वीं सदी में थाईलैंड की राजधानी को अयुथ्थ्या कहा जाता था, जिसे स्थानीय भाषा में अयोध्या कहा जाता है। गौरतलब है कि भारत में अयोध्या सरयू नदी के तट पर बसी है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें