‘भारत माता की जय’ बोलने वाले ‘कोयल’ और न बोलने वाले ‘कौआ’: रामनाईक

प्रदेश के राज्यपाल रामनाइक ने  भारत माता की जय बोलने वालो को कोयल और न बोलने वालों को कौवे की उपाधि दी। पश्चिम बंगाल में पुल ढहने से हुयी मौतों के सवाल पर कहा कि दु:ख की घड़ी में सबको साथ रहना चाहिए।

ram-naik

लखनऊ । एक मांगलिक कार्यक्रम में शरीक होने पहुंचे प्रदेश के राज्यपाल रामनाइक ने संसदीय कार्यमंत्री आाजम खां पर हमला बोला कहा कि वह पद पर बने रहने के लायक नहीं है। वह जो बोलते हैं उसमें अधिकोष हिस्सा असंसदीय होता है। गवर्नर ने समाचार पत्रों में छपी खबर का हवाला दिया और कहा कि साठ में से बीस लाइनें असंसदीय है।

उन्होंने भारत माता की जय बोलने वालो को कोयल और न बोलने वालों को कौवे की उपाधि दी। पश्चिम बंगाल में पुल ढहने से हुयी मौतों के सवाल पर कहा कि दु:ख की घड़ी में सबको साथ रहना चाहिए।

राज्यपाल मंगलवार (12 अप्रैल) को लउवा में पूर्व मंत्री एवं सदस्य विधान परिशद हृदयनारायण दीक्षित के पुत्र के तिलकोत्सव में शामिल होने आए थे। सड़क मार्ग से हिलौली के ग्राम लउवा पहुंचे राज्यपाल रामनाइक का विधायक उदयराज यादव व एम.एल. सी. हृदयनारायण दीक्षित ने माल्यार्पण कर स्वागत किया।

पुलिस की ओर से महामहिम को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।करीब चालीस मिनट रुकने के बाद वह सीधे पत्रकारों से मुखातिब हुए। सनद रहे कि इन दिनों संसदीय कार्यमंत्री और राजभवन के मध्य तीखी नोंक- झोंक जारी है जाहिर है पहला सवाल आजम खां को लेकर ही होना था। जबाब देते हुए महामहिम नाइक ने कहा कि संसदीय कार्यमंत्री द्वारा जो भी बोला गया है उन्होंने अखबारों में पढ़ा है। साठ लाइनों में से बीस असंसदीय है।

कायर्वाही को लेकर पूछे गए सवाल के जबाब में कहा कि मुख्यमंत्री विदेश में है हो सकता इस कारण वह बात न कर पाएं हों पर मैने उन्हें बता दिया है। राज्यपाल का इशारा कायर्वाही को लेकर था। भारत माता की जय के संदर्भ में दारूल उलूम द्वारा जारी किए गए फतवे पर सवाल दागा गया तो राज्यपाल श्री नाइक ने कोयल और कौवे की उपमा दे डाली कहा कि मीठा बोल कर कोयल अपनी सुरक्षा कर लेती है मगर कौवे को हर समय असुरक्षा का भय सताया करता है।

उन्होंने कहा कि जिन्हें देश से प्यार है वह भारत मां की जय बोलेंगे। उल्लेखनीय है कि पहली बार पूर्व मंत्री एवं सदस्य विधान परिशद हृदय नारायण दीक्षित के निमंत्रण पर उनके पैतृक गांव लउवा पहुंचे राज्यपाल श्री नाइक परिवार के लोगों से मिलकर उनका कुशल क्षेम पूछी व श्री दीक्षित के छोटे पुत्र सुशील दीक्षित को आर्शीवाद स्वरूप फूलों का गुलदस्ता भेंट किया।

इस बीच उन्होंने विधायक उदयराज यादव से भी बात की इस अवसर पर श्री दीक्षित के पुत्रों में अरूण दीक्षित,दिलीप दीक्षित, के अलांवा केन्द्रीय राज्य मंत्री साध्वी निरंजन ज्योती, प्रदेश के चिकित्सा राज्य मंत्री सुधीर रावत, विधान परिषद सभापति रमेंश यादव,पूर्व प्रदेष अध्यक्ष रमापतिराम त्रिपाठी,पूर्व मंत्री रमापति शास्त्री, एम. एल. सी. सुनील सिंह यादव, एम.एल.सी. दिनेश प्रताप सिंह, प्रदेश महामंत्री पंकज सिंह,पूर्व सांसद पूणिर्मा वर्मा,देवी बक्श सिंह, विधायक कुलदीप सिंह, शिक्षक विधायक राजबहादुर सिंह चन्देल,पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ज्योति रावत आदि मांगलिक कार्यक्रम का हिस्सा बनें।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *