भारत बंद के बाद दलितों पर मुकदमो से भड़की मायावती, बीजेपी को चेतावनी

लखनऊ। एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीमकोर्ट के फैसले के विरोध मे आयोजित दलित संगठनों के भारत बंद के दौरान हुई हिंसा के बाद दलितों के खिलाफ मुकदमे लिखे जाने से आहत बसपा सुप्रीमो मायावती ने बीजेपी को सख्त चेतावनी दी है।

मायावती ने बीजेपी को आग से न खेलने की सलाह देते हुए कहा कि देश में इमरजेंसी से बदतर हालात हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी आग से खेल रही है. माया ने अपनी सरकार बनने पर दलितों के खिलाफ किए गए केस वापस लेने का भी ऐलान किया है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ बीते 2 अप्रैल को बुलाया गया भारत बंद बेहद सफल रहा है। जिसने बीजेपी को परेशान कर दिया है।

मायावती ने आरोप लगाया कि भारत बंद की कामयाबी के चलते ही बीजेपी शासित राज्यों में दलितों पर अत्याचार किए जा रहे हैं। उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि दलितों और उनके परिवारों को गिरफ्तार किया जा रहा है।

गौरतलब है कि भारत बंद के बाद दलितों के खिलाफ मुकदमे लिखे जाने को लेकर बीजेपी के अंदर से आवाज़ उठना शुरू हो गयी है। कल बीजेपी सांसद उदित राज ने यूपी और राजस्थान के कई शहरो का हवाला देते हुए कहा था कि इन शहरो में भारत बंद के बाद दलितों पर अत्याचार हो रहा है। उदित राज ने जिन शहरो के नामो का हवाला दिया था वे सभी उत्तर प्रदेश और राजस्थान के हैं और दोनो ही जगह बीजेपी की सरकार है।

इतना ही नहीं बीजेपी के तीन सांसद पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिख कर अपनी भावनाएं व्यक्त कर चुके हैं। एक सांसद ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ पर शिकायत न सुनने और भगाने का आरोप भी लगाया था।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें