भाजपा की शरण में अजीत सिंह , गठबंधन में मिल रहीं 25 सीटें

Ajit-Singh

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव गैर भाजपा दलों को एकजुट करने की बिहार के मुख्य्मंत्री नीतीश कुमार की कोशिशों को बड़ा झटका लगा है । महागठबंधन में शामिल होने की बात कहने वाले अजीत सिंह के राष्ट्रीय लोकदल ने अब भाजपा की तरफ रुख कर लिया है । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा -रालोद गठबंधन होना तय हो चुका है तथा भाजपा रालोद को 25 सीटें देने के लिए अपनी सहमति दे चुकी है ।

हालाँकि रालोद चाहता है कि भाजपा उसे पश्चिमी यूपी में 35 सीटें दे और प्रदेश के दूसरे हिस्सों में उसके लिए तीन-चार सीटें छोड़े। दोनों दलों के बीच कुछ सीटों को लेकर जद्दोजहद होगी। दोनों तरफ से लचीचा रुख दिखाने के बाद बातचीत आगे बढ़ सकती है।

प्रदेश भाजपा के नेता इस गठबंधन को लेकर कुछ नहीं बोल रहे हैं, अलबत्ता पश्चिमी यूपी के कुछ भाजपा नेता जरूर गठबंधन के पक्ष में हैं। उनका कहना है कि रालोद से गठबंधन के बाद भाजपा मजबूत होगी।

भाजपा चाहती है कि चौधरी अजित सिंह गठबंधन के बजाय रालोद का भाजपा में विलय कर दें। इसके बदले उन्हें आकर्षक ऑफर दिया गया है। हालांकि अजित विलय के बजाय गठबंधन के पक्षधर हैं। उन्होंने भाजपा के कुछ नेताओं से यह बता भी दिया है। सूत्रों के मुताबिक भाजपा ने गठबंधन के मुद्दे पर बातचीत जारी रखने का संकेत दिया है, लेकिन निर्णायक वार्ता 19 मई को पांच राज्यों के चुनावी नतीजे आने के बाद होगी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *