ब्रेकिंग : रिज़र्व बैंक गवर्नर उर्जित पटेल का इस्तीफा

नई दिल्ली। रिज़र्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। माना जा रहा है कि रिज़र्व बैंक गवर्नर उर्जित पटेल और सरकार के बीच पैदा हुए तनाव के चलते उन्होंने इस्तीफा दिया है।

हालाँकि मीडिया उर्जित पटेल ने अपने इस्तीफे के पीछे निजी वजह बताया है लेकिन पिछले कुछ महीनो से उर्जित पटेल और सरकार के बीच कई मामलो को लेकर संबंधो में खटास पैदा हो गयी थी।

8 नवंबर 2016 को देशभर में लागू की गयी पांच सौ और एक हजार के नोटों की नोटबंदी के समय उर्जित पटेल विपक्ष के निशाने पर आ गए थे। नोट बंदी के बाद काफी समय बीत जाने के रिज़र्व बैंक ने बताया कि लगभग 99 फीसदी चलन से बाहर की गयी पुरानी करेंसी वापस आ गयी।

इससे सरकार के उन दावों पर सवाल उठने लगे जिनमे पहले कहा गया था कि नोट बंदी से काला धन बाहर आएगा। इतना ही नहीं संसदीय समिति ने भी पुराने नोटों की वापसी को लेकर कई बार रिज़र्व बैंक गवर्नर उर्जित पटेल को तलब किया था।

इस्तीफे के बाद उर्जित पटेल ने अपने बयान में कहा, ‘मैं व्यक्तिगत कारणों की वजह से तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा दे रहा हूं। बीते वर्षों में आरबीआई में काम करना मेरे लिए गर्व की बात रही। इस दौरान आरबीआई के अधिकारियों, प्रबंधन और स्टाफ का भरपूर सहयोग मिला। मैं आरबीआई बोर्ड के सभी निदेशकों और सहकर्मियों का शुक्रिया अदा करता हूं।”

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
loading...