बेगूसराय से चुनाव नहीं लड़ना चाहते गिरिराज, दिल्ली में जमाया डेरा

नई दिल्ली। बिहार में बीजेपी जदयू गठबंधन के बाद केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह की नवादा लोकसभा सीट जदयू के खाते में जाने के बाद उन्हें बेगूसराय से टिकिट दिया गया था लेकिन गिरिराज सिंह टिकिट की घोषणा होने के बाद भी इस सीट से चुनाव लड़ना नहीं चाहते और उन्होंने दिल्ली में डेरा जमा लिया है।

बेंगूसराय में गिरिराज सिंह के सामने राजद उम्मीदवार के अलावा वामदलों के गठबंधन उम्मीदवार के तौर पर जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार भी होंगे। माना जा रहा है कि बेगूसराय में जातीय समीकरण गिरिराज सिंह के खिलाफ है इसलिए चुनाव में पराजय के खतरे को भांपते हुए गिरिराज सिंह अपनी टिकिट बदलवाना चाहते हैं।

टिकिट का एलान होने के बाद जहाँ अब गिरिराज सिंह को अपने चुनावी क्षेत्र बेगूसराय में होना चाहिए था लेकिन वे दिल्ली में डेरा जमाये बैठे हैं। पार्टी सूत्रों की माने तो गिरिराज सिंह अपनी सीट बदलवाने के लिए पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से बात करना चाहते हैं लेकिन अमित शाह की व्यस्तता के कारण गिरिराज सिंह और अमित शाह की बैठक नहीं हो सकी है।

गौरतलब है कि गिरिराज सिंह लोकसभा चुनाव 2014 में बेगूसराय से चुनाव लड़ना चाहते थे, जोकि उनके गृहक्षेत्र बड़हिया (लखीसराय) से सटा हुआ है। तब, पार्टी ने उन्हें नवादा से टिकट दिया था और वह जीते भी। इस बार गिरिराज अपनी नवादा सीट नहीं छोड़ना चाहते थे, लेकिन उन्हें बेगूसराय से उम्मीदवार बना दिया गया।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें