बुलंदशहर कांड: स्कूल के बच्चो की क्यों की गयी थी समय से पहले छुट्टी ?

नई दिल्ली। 3 दिसंबर को बुलंदशहर में हुई हिंसा की घटना में एक पुलिस इंस्पेक्टर सहित दो लोगों की मौत के मामले में अब और नए खुलासे हुए हैं। बुलंदशहर हिंसा मामले में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या में अब आर्मी जवान जीतू का नाम सामने आया है।

वहीँ जांच में खुलासा हुआ है कि इंस्पेक्टर सुबोध और मृतक सुमीत पर एक ही हथियार से गोली दागी गयी थी। फिलहाल जीतू नामक फौजी को पकड़ने के लिए पुलिस की दो टीमें रवाना हो चुकी हैं।

वहीँ इस मामले में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। जिस दिन हिंसा की घटना हुई वहां से मात्र 100 मीटर की दूरी पर स्थित स्कूल के बच्चो को समय से पहले मिड डे मील दिया गया था। एनडीटीवी के मुताबिक स्कूल के शिक्षक प्रभारी ने बताया कि बच्चों को जल्दी भोजन खिलाने और तुरंत घर भेज देने के आदेश मिले थे।

इस स्कूल में आमतौर पर स्कूल में दोपहर 12.30 बजे भोजन दिया जाता था लेकिन घटना वाले दिन बच्चो को समय से पहले दोपहर 11 बजकर 15 मिनट पर मिड डे मील दे दिया गया था। जानकारी के अनुसार बच्चो को समय से पहले मिड डे मील खिलाकर घर भेज दिया गया था। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या स्कूल प्रशासन को घटना की पहले से जानकारी थी।

वहीँ दूसरी तरफ यह भी दावा किया जा रहा है कि बेसिक शिक्षा अधिकारी की तरफ से स्कूल प्रशासन को जल्द छुट्टी करने के लिए कहा गया था। बेसिक शिक्षा अधिकारी की तरफ से बताया गया था कि मुसलमानो के इज्तेमा के चलते माहौल अच्छा नहीं है इसलिए बच्चो की छुट्टी जल्द कर दी जाए।

फिलहाल इस मामले में अभी पुलिस कुछ भी बताने से इंकार कर रही है। पुलिस का कहना है कि अभी गहराई से जांच चल रही है। जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती इस मामले में कुछ कहने या बताने से जांच प्रभावित हो सकती है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें