बीफ के शक में पीटे गए लोगों पर पुलिस ने उल्टा मुकदमा किया, हमलावरों पर कोई कार्रवाही नहीं

पटना। उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और हरियाणा के बाद अब बिहार में भी कटटर पंथियों ने सिर उठाना शुरू कर दिया है। मामला बिहार के चम्पारण का है, जहाँ बीफ खाने के शक में तथाकथित गौरक्षकों ने घर पर धावा बोलकर मुस्लिमों की बेरहमी से पिटाई की।

इस मामले में पुलिस ने उल्टा उन 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया जिन पर बीफ खाने के आरोप में हमला किया गया । मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शुक्रवार को बीफ कानून तोडने के आरोप में पुलिस ने उन सातों मुस्लिम युवकों को गिरफ्तार किया है। इन पर समुदाय की भावनाओं को आहत करने का आरोप है।

इसमें खुदुश कुरैशी, नसरुद्दीन, मुस्तफा, जहांगीर, असलम अंसारी, बबलू और रिजवान को हिरासत में लिया गया है। हमले में बुरी तरह घायल हुए 4 लोगों को नजदीक के अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

पुलिस के अनुसार हमलावरों पर अभी कोई कार्रवाही नहीं की गयी है क्यों कि पीड़ित पक्ष की तरफ से इस मामले में कोई शिकायत नहीं आयी। स्थानीय लोगों के अनुसार हमलावर विश्व हिन्दू परिषद से जुड़े हैं। लोगों ने मीडिया को बताया कि विहिप से जुड़े कुछ लोग एक मुस्लिम परिवार पर बीफ खाने के शक के आधार पर घर में घुस गए और जमकर मार पीट की।

लोगों के अनुसार मौके पर पहुंची पुलिस पीड़ित लोगों को थाने ले कर आ गयी और उनका चालान कर दिया। इनमे से घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें