बीजेपी ने वरुण गांधी और मेनका गांधी की सीटें बदलीं, कई मौजूदा सांसदों के टिकिट काटे

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी द्वारा लोकसभा चुनाव के लिए आज जारी की गयी 10 वीं सूची में उत्तर प्रदेश के कई मौजूदा सांसदों के टिकिट काट दिए गए हैं वहीँ कुछ केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी और उनके बेटे वरुण गांधी सहित कई सांसदों की सीटों में बदलाव किया गया है।

बीजेपी द्वारा आज जारी की गयी लिस्ट में उत्तर प्रदेश की 29 और पश्चिम बंगाल की 10 सीटों के लिए उम्मीदवारों के नामो का एलान किया गया है। इस लिस्ट में पीलीभीत से सांसद केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी को अब उनके पुत्र वरुण गांधी की सुल्तानपुर सीट पर शिफ्ट कर दिया गया है वहीँ वरुण गांधी को सुल्तानपुर से हटाकर पीलीभीत से उम्मीदवार बनाया गया है।

वहीं कानपुर सीट से पार्टी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी का टिकट काटकर सत्यदेव सिंह पचौरी को मौका दिया गया है। इटावा सीट से अशोक धोहरे का टिकट काटकर आगरा से सांसद रमाशंकर कठेरिया को टिकट दिया गया है।

बलिया सांसद भारत सिंह का टिकट काट कर उनकी जगह भदोही से वर्तमान सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त को बलिया से उम्मीदवार बनाया गया है। बाराबंकी से मौजूदा प्रियंका रावत का टिकट काट दिया गया है, उनकी जगह मौजूदा विधायक उपेन्द्र रावत को टिकट दिया गया है।

इलाहाबाद से मौजूदा सांसद श्यामचरण गुप्ता बीजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी में चले गए हैं। जिसके चलते इलाहाबाद लोकसभा सीट से यूपी सरकार में मंत्री रीता बहुगुणा जोशी को टिकट दिया गया है।

इसी तरह बहराइच से सांसद सावित्रीबाई फुले बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में चली गई हैं, जिसके चलते इस सीट से बीजेपी ने विधायक अक्षयवरलाल गौर को टिकिट दिया है।

समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान के गढ़ रामपुर से बीजेपी ने अपने मौजूदा सांसद नेपाल सिंह का टिकट काट दिया है। उनकी जगह बॉलीवुड अभिनेत्री और पूर्व सपा सांसद जया प्रदा को प्रत्याशी बनाया गया है।

बीजेपी ने अपने वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी को कानपुर से टिकट काटकर उनकी जगह यूपी सरकार के मंत्री सत्यदेव सिंह पचौरी को टिकट दिया गया है। वहीँ कुशीनगर सीट से भी मौजूदा सांसद राजेश पांडेय का टिकट काट दिया गया है, उनकी जगह योगी आदित्यनाथ के करीबी माने जाने वाले विजय दुबे को उम्मीदवार बनाया गया है।

इससे पहले कयास लगाए जा रहे थे कि केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी और उनके पुत्र वरुण गांधी के टिकिट काटे जा सकते हैं लेकिन पार्टी हाईकमान ने टिकिट न काटकर उनकी सीटें आपस में बदल दी हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें