बीजेपी के शत्रु बोले ‘लोगों का कहना है कि ये सरकार अलीबाबा और 40 चोरों’ की तरह लगती है’

नई दिल्ली। बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा द्वारा बीजेपी से नाता तोड़ने के बाद यशवंत सिन्हा के करीबी कहे जाने वाले फिल्म अभिनेता और पटना साहिब से बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने पार्टी आलाकमान को खुली चुनौती दी है।

बीते शनिवार को राष्ट्र मंच की ओर से पटना के एसके मेमोरियल हॉल में आयोजित कार्यक्रम में शत्रुघ्न सिन्हा ने बागी तेवर दिखाते हुए साफ़ शब्दों में कहा कि “पार्टी मुझ पर कार्यवाही करके दिखाए”।

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि ‘मैंने सुना है कि पार्टी बिहार विधानसभा चुनाव के बाद से ही मेरे खिलाफ कार्रवाई करने पर विचार कर रही है। लेकिन उन्होंने अभी तक कोई फैसला नहीं लिया है। क्या वे मजबूर हैं, या मुझे निकालने के लिए मुहूर्त का इंतजार कर रहे हैं।’

शत्रु ने बागी अंदाज़ में कहा कि ‘भाजपा नेतृत्व जब चाहे कार्रवाई कर सकता है। लेकिन उन्हें न्यूटन का तीसरा नियम याद होना चाहिए। हर क्रिया की एक प्रतिक्रिया होती है।’

उन्होंने कहा कि ‘मैंने छोड़ने के लिए पार्टी ज्वाइन नहीं की थी। मैंने हमेशा कहा है कि यह मेरी पहली और आखिरी पार्टी है। मैं पार्टी नहीं छोड़ूंगा। यह दूसरी बात होगी कि वो मुझे निकाल दें। जब तक मैं पार्टी में हूं, मैं मर्यादा नहीं तोड़ूंगा।’

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावो के नतीजे देखकर आश्चर्य हुआ। यह सब कैसे हुआ। मुझे नहीं पता कि ये परिणाम ईवीएम से आए या कुछ और तरीके से। मैं इस पर कुछ नहीं कहूंगा।

इशारो इशारो में शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी सरकार पर भी सीधा निशाना साध दिया। उन्होंने कहा कि ‘लोगों का कहना है कि ये सरकार ‘अलीबाबा और 40 चोरों’ की तरह लगती है।’

बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा पिछले काफी समय से पार्टी लाइन से अलग राय रखते रहे हैं। नोट बंदी, जीएसटी से लेकर पीएम मोदी की विदेश यात्राओं और देश के माहौल को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा अपनी ही पार्टी और सरकार को घेरते रहे हैं।

Share

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें