दुनिया

बीजेपी के झूठे वादो का नतीजा है किसान आंदोलन : जुनेद क़ाज़ी

न्यूयॉर्क। इंडियन नेशनल ओवरसीज कांग्रेस(आईएनओसी), यूएसए के पूर्व अध्यक्ष जुनेद क़ाज़ी ने मध्य प्रदेश में प्रदर्शनकारी किसानो पर पुलिस फायरिंग की कड़ी निंदा करते हुए इसे ब्रिटिश हुकूमत की यादें ताजा करने वाला बताया है। पुलिस फायरिंग में मारे गए किसानो के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए आईएनओसी के पूर्व अध्यक्ष जुनेद क़ाज़ी ने कहा कि यह बीजेपी के झूठे वादों का नतीजा है।

जुनेद काजी ने मंदसौर जा रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी और राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट को हिरासत में लिए जाने की निंदा करते हुए कहा कि बीजेपी देश में आपातकाल जैसे हालत पैदा करना चाहती है। उन्होंने कहा कि लोकतान्त्रिक तरीके से अपने हक के लिए आवाज़ उठा रहे किसानो पर पुलिस फायरिंग यह दर्शाती है कि अब बीजेपी लोकतान्त्रिक परंपराओं को भी कुचल देना चाहती है और वह अपने खिलाफ उठने वाली हर आवाज़ को ताकत के बल पर दबाना चाहती है।

जुनेद क़ाज़ी ने कहा कि किसान देश का अन्नदाता है, उसे उसकी फसल की पूरी कीमत मिले ये उसका हक है। उन्होंने कहा कि यदि यूपी के किसानो के कर्ज माफ़ हो सकते हैं तो महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के किसानो के कर्ज माफ़ क्यों नहीं हो सकते। उन्होंने मोदी सरकार पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में चुनाव जीतने के लिए किसानो के कर्ज माफ़ करने की घोषणा करने से साफ़ है कि बीजेपी की किसानो से कोई हमदर्दी नहीं वही सिर्फ सत्ता हासिल करने के लिए किसानो को कर्ज माफ़ी के सपने दिखाती है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी सरकार ने देश पर अनावश्यक नोटबंदी थोप कर मध्यम वर्ग, किसानो और मजदूरो की आजीविका पर हमला किया है। उन्होंने कहा कि नोटेबंदी लागू होने के बाद देश के एक विशेष वर्ग के लिए रोज़ी रोटी कमाने के लाले पड़ गए हैं। इसमें किसान भी शामिल हैं।

जुनेद क़ाज़ी ने कहा कि मोदी सरकार खुद तय नहीं कर पा रही कि उसे किस मुद्दे पर क्या कदम उठाना है। कश्मीर का ज़िक्र करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि बीजेपी की गलत नीतियों के कारण कश्मीर एक बार फिर तनावग्रस्त हो गया है। वहीँ उत्तर प्रदेश में बढ़ते अपराधों पर जुनेद क़ाज़ी ने कहा कि प्रदेश में बीजेपी के सत्ता में आने के बाद अपराधी बेख़ौफ़ हो गए हैं।

जुनेद क़ाज़ी ने कहा कि अब समय आ गया है जब देश में लोकतान्त्रिक मूल्यों को ज़िंदा रखने के लिए सभी गैर भाजपा दलों को एक मंच पर आजाना चाहिए। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार को मनमानी करने से रोकने के लिए सभी सेकुलर विचारधारा वाले दलों को एकजुट होकर चलना होगा।

जुनेद क़ाज़ी ने कहा कि मध्य प्रदेश में किसानो पर हुई पुलिस फायरिंग के खिलाफ जल्दी ही भारतीय अमेरिकन अमेरिका में इंडियन काउंसलेट को ज्ञापन देंगे और इस मामले की सीबीआई जाँच की मांग करेंगे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Facebook

Copyright © 2017 Lokbharat.in, Managed by Live Media Network

To Top