बीजेपी की मुश्किलें बढ़ीं: कर्नाटक में 60 सीटों पर उम्मीदवार उतारने पर अड़ी शिवसेना

मुंबई। कर्नाटक में 12 अप्रेल को होने जा रहे विधानसभा चुनावो में बीजेपी के लिए नई मुश्किल पैदा हो गयी है।

महाराष्ट्र सरकार में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने 60 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का एलान कर बीजेपी के लिए नई मुश्किल पैदा कर दी है।

अब बीजेपी को 60 सीटों पर कांग्रेस के अलावा शिवसेना से भी जूझना पड़ेगा।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने रविवार को संवादाता सम्मेलन में ये एलान करते हुए कहा कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि पार्टी अकेले स्वतंत्र रूप से चुनाव लड़ने जा रही है। इसलिए कर्नाटक में भी हमने अकेले जाने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा कि हम करीब 50 से 60 सीट पर लड़ेंगे, लेकिन महाराष्ट्र एकीकरण समिति को समर्थन देंगे। यह संगठन महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच के विवादित क्षेत्र में रहने वाले लोगों का प्रतिनिधित्व करता है।

गौरतलब है कि शिवसेना इससे पहले गोवा, गुजरात और उत्तर प्रदेश में भी अपने उम्मीदवारों को चुनाव लड़ा चुकी है। राउत ने कहा कि कर्नाटक के अंतर्गत आने वाले बेलगाम, कारवार में आने वाले करीब 800 गांवों में मराठी भाषा बोलने वाले लोगों का प्रभुत्व है। राउत ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देनेन्द्र फडणवीस से इन इलाकों में बीजेपी के लिए प्रचार नहीं करने की अपील की है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें