बिहार: सृजन घोटाले में आरोपी व्यक्ति की मौत, तेजस्वी ने बताया व्यापम से बड़ा घोटाला

पटना। बिहार के सबसे बड़े सृजन घोटाले में आरोपी व्यक्ति की रविवार देर रात अस्पताल में मौत होने से यह मामला और गहरा गया है। मृतक व्यक्ति भागलपुर कल्याण विभाग में कार्यरत था। मृतक के परिजनों ने इस मामले में पुलिस पर आरोप लगाए हैं। परिजनों का कहना है कि मंडल इस मामले में कई लोगों का राज खोल सकता था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सृजन घोटाले में शामिल होने के आरोप में 13 अगस्त को गिरफ्तार भागलपुर जिला कल्याण विभाग से निलंबित नाजिर महेश मंडल की तबियत रविवार की रात भागलपुर जेल में बिगड़ गई। आनन-फानन में जेल प्रशासन महेश को एक स्थानीय अस्पताल ले गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

इस बीच बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने सृजन घोटाले को लेकर नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए इस व्यापम से बड़ा घोटाला बताया। वहीँ महेश मंडल की मौत के बाद राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, “सृजन महाघोटाले में पहली मौत। 13 गिरफ्तार, उनमें से एक की मौत। मरने वाले भागलपुर में नीतीश की पार्टी के एक बहुत अमीर नेता के पिता थे।”

गौरतलब है कि भागलपुर के सबौर स्थित स्वयंसेवी संस्था सृजन महिला विकास सहयोग समिति के बैंक खाते में सरकारी योजनाओं के पैसे रखे जाते थे, जिसका उपयोग संस्था द्वारा अपने व्यक्तिगत कार्यो में किया जाता है। पुलिस का दावा है कि यह गोरखधंधा वर्ष 2009 से चल रहा था। यह घोटाला 700 करोड़ रुपये से अधिक का बताया जाता है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *