बिहार में महागठबंधन के बीच हुआ सीटों का बंटवारा, एलान इसी सप्ताह

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में विपक्ष के गठजोड़ वाले महागठबंधन के बीच सीटों का बंटवारा तय हो गया है। इसकी औपचारिक घोषणा इसी सप्ताह के अंत तक कर दी जाएगी।

इससे पहले विपक्षी दलों के बीच सीटों के बंटवारे में पेंच फंसने की खबर आयी थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी अपनी पार्टी के लिए ज़्यादा सीटों की मांग कर रहे थे साथ ही कुछ सीटों पर कांग्रेस और राजद के बीच टकराव था। बताया जाता है कि अब सभी दलों के बीच आमराय बन गयी है और सीटों के बंटवारे का काम पुरा कर लिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बिहार में कांग्रेस 15 सीटों पर दावा ठोंक रही थी लेकिन 12 सीटों पर समझौता हो गया है। इसी तरह राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) 5 सीटें मांग रही है, जबकि गठबंधन में उसे 3 से 4 सीटें मिलना तय हो गया है। 3 सीटों की मांग करने वाली विकासशील इंसाफ पार्टी को गठबंधन में सिर्फ एक सीट मिल सकती है।

बिहार में महागठबंधन वाले दल का नेतृत्व कर रहे राष्ट्रीय जनता दल के खाते में 20 से 22 सीटें जा सकती हैं जबकि पूर्व सीएम जीतन राम मांझी की पार्टी ‘हम’ की स्थिति अभी महागठबंधन में तय नहीं हो सकी है।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रीय जनता दल ने जिन सीटों पर अपना दावा ठोंका है, उनमें अररिया, भागलपुर, मधेपुरा, बांका, मधुबनी, झंझारपुर, दरभंगा, वैशाली, सिवान, महाराजगंज, सारण, उजियारपुर, खगड़िया, पाटलिपुत्र, बक्सर, काराकाट, जहानाबाद, गया, जमुई शामिल है लेकिन बेगूसराय सीट पर लेफ्ट भी अपना दावा ठोंक रहा है।

कांग्रेस किशनंगज, सुपौल सासाराम, औरंगाबाद, मधुबनी, वाल्मीकि नगर, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, हाजीपुर, समस्तीपुर, और पटना साहिब पर अपना दावा ठोंक रही है। सूत्रों की माने तो कांग्रेस पटना साहिब से शत्रुघ्न सिन्हा को मैदान में उतार सकती है।

हालाँकि ये सिर्फ अभी कयास ही हैं, देखना है कि सीटों के बंटवारे के औपचारिक एलान में कौन सी सीट किस पार्टी को दी जाती है। लेकिन इतना तय माना जा रहा है कि अब महागठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर कोई पेंच नहीं है।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें
loading...