बिहार में पुलिस के सामने अमानवीय तरीके से नदी में फेंके गए शव

पटना। बिहार में बाढ़ से मरने वालो की तादाद में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। इस बीच पुलिस की मौजूदगी में लाशों को नदी में फेंकने का मामला प्रकाश में आया है। बिहार के जोगबनी में एक ट्रैक्टर पर लाशों को लादकर मीरगंज पुल से नदी में बहाया जा रहा है। सबसे हैरानी की बात ये है कि यह कारनामा पुलिस की मौजूदगी में हो रहा है।

इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल हो रही हैं। इन तस्वीरों में बाढ़ में मारे गए लोगों की लाशो को अमानवीय तरीके से पुलिस की मौजूदगी में एक नदी में फेंकते दिखाया गया है।

ट्विटर पर कई यूजर्स ने मृतकों की लाशो के साथ अमानवीय व्यवहार पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को निशाने पर लिया। लोगों का कहना है कि तस्वीरें झूठ नहीं बोलतीं। तस्वीरों में एक ट्रेक्टर में से लाशो को नदी के पुल से नीचे फेंका जा रहा है।

अबतक जोगबनी में आधिकारिक पुष्टि के तहत 17 लाशें मिल चुकी हैं, जिनमें से चार शव नेपाल के रहने वाले लोगों के बताए गए हैँ। फारबिसगंज की कुछ पंचायतों में तीन दिन पूर्व तक एक दर्जन लाशों की पुष्टि हुई थी।

वहीं, घोड़ाघाट निवासी अशोक झा ने बसबिट्टी में कई लाशें होने की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी। हालांकि इस मामले में अररिया के डीएम ने महज 20 मौतों की पुष्टि की है।

 

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें