बदायूं में विरोध के बाद भगवा से फिर नीले हुए डा अंबेडकर

बदायूं। उत्तर प्रदेश के बदायूं में संविधान निर्माता डा भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर भगवा रंग किये जाने को लेकर तनाव पैदा हो गया।

बदायूं के कुंवरगांव में शरारती तत्वों ने डा अंबेडकर की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया था जिसे दोबारा स्थापित किया गया लेकिन इस बार नई प्रतिमा नीले रंग की जगह भगवा रंग की लगाई गई तथा अंबेडकर के कपड़ों को भगवा रंग का दिखाया गया।

डा अंबेडकर की मूर्ति को भगवा रंग में देखकर विवाद बढ़ गया था। स्थानीय बीएससपी नेताओं ने इसका विरोध किया, विवाद बढ़ने के बाद अब फिर अंबेडकर की प्रतिमा को नीले रंग में रंग दिया गया है।

बंदायूं बसपा के जिलाध्यक्ष हेमेन्द्र कुमार गौतम का कहना है कि जिस दिन अंबेडकर की प्रतिमा तोड़ी गई थी, उसी दिन प्रशासन से दूसरी प्रतिमा लगाने को लेकर उनसे संपर्क किया था। जिसके बाद उन्होंने कुछ लोगों के साथ मिलकर शांति कायम रखने के लिए आगरा से अंबेडकर की भगवा रंग वाली मूर्ति खरीदी थी, लेकिन अब रंग को लेकर विवाद के बाद उन्होंने फिर से मूर्ति का रंग नीला करवा दिया है।

बहुजन समाज पार्टी नेता ने खुद अपने हाथों से अंबेडकर के भगवा रंग की प्रतिमा पर नीला रंग चढ़ाया. उनका कहना है कि इस पीछे कोई राजनीति साजिश नहीं है. उन्होंने आज इसकी लिखित जानकारी दी।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें