बजट में अनदेखी के खिलाफ आंध्रप्रदेश बंद, मोदी सरकार के विरुद्ध खुलकर आयी टीडीपी

नई दिल्ली। केंद्रीय बजट में आंध्र प्रदेश के साथ सौतेले व्यवहार के आरोप में आज आंध्रप्रदेश में प्रदेशव्यापी बंद का आयोजन किया गया है। अहम बात यह है कि इस बंद को राज्य की सत्तारूढ़ और बीजेपी की सहयोगी तेलगु देशम पार्टी भी परदे के पीछे से समर्थन दे रही है।

आज के आयोजित बंद को लगभग सभी दलों का समर्थन प्राप्त हैं। ट्रक मालिक यूनियन, करदाता एसोसिएशन, ट्रे़ड यूनियन ने बंद का सर्मथन किया है। वाईएसआरसीपी, कांग्रेस पार्टी, जन सेना और लोकसत्ता अन्य संगठनों ने भी बंद का समर्थन किया है।

केंद्र की मोदी सरकार में सहयोगी और आंध्र में सत्तारूढ़ टीडीपी पिछले कई दिनों से बजट में नाइंसाफी का आरोप लगाकर मोदी सरकार के खिलाफ विरोध कर रही है।

गुरुवार को संसद भवन परिसर में लगातार तीसरे दिन टीडीपी सांसदों ने विरोध किया. कल लोकसभा में प्रधानमंत्री के संबोधन के दौरान भी टीडीपी के सदस्य लगातार नारेबाजी कर रहे थे।

वहीँ इससे पहले राज्य के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू बजट में आंध्र प्रदेश की अनदेखी किये जाने को लेकर नाराज़गी जता चुके हैं। टीडीपी और बीजेपी के बीच रिश्तो में आयी तल्खी का एक अहम कारण राज्य में बीजेपी नेताओं द्वारा चंद्रबाबू नायडू सरकार के खिलाफ बयान देना भी है।

जनवरी के दूसरे सप्ताह में सीएम नायडू ने पीएम नरेंद्र मोदी से मिलकर इस मामले में राज्य के बीजेपी नेताओं की शिकायत भी की थी। इतना ही नहीं नायडू ने मीडिया से बातचीत में इशारा किया कि यदि राज्य में बीजेपी नेताओं द्वारा सरकार की आलोचना का काम जारी रहा तो उन्हें एनडीए से अपना रिश्ता तोडना पड़ेगा।

वहीँ आज संसद भवन प्रांगण में वाईएसआर कांग्रेस के सांसदों ने आंध्र प्रदेश के लिए विशेष पॅकेज की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। इस दौरान वाईएसआर सांसद अपने हाथो में तख्तियां लेकर खड़े रहे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें