बच्चो की तस्करी मामले में बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से दो घंटे तक पूछताछ

इंदौर। पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी से बच्चो की तस्करी मामले में सीआईडी ने भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से दो घंटे तक पूछताछ की है। कोलकाता से इंदौर पहुंची आठ सदस्यीय टीम ने बीजेपी महासचिव विजयवर्गीय से 50 से ज्यादा सवाल पूछे और उनके बयान भी दर्ज किए।

सीआईडी ने पिछले साल बाल तस्करी के एक गिरोह का पर्दाफाश किया था, जो गोद लेने के अवैध सौदों के जरिए शिशुओं और बच्चों को कथित रूप से बेचता था।

इस मामले का खुलासा तब हुआ जब बच्चो की तस्करी मामले में भाजपा महिला नेता जूही चौधरी की गिरफ्तार किया गया। जांच में जूही चौधरी का बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से करीबी कनेक्शन सामने आया था। जूही चौधरी ने पूछताछ में बताया था कि उसने राज्यसभा सांसद रूपा गांगुली के जरिए विजयवर्गीय से संपर्क किया था।

आरोप है कि तस्करी किये गए बच्चो कुछ विदेशियों को भी बेचा जाता था। पिछले साल जून में राज्य सीआईडी ने इसी मामले में पूछताछ के लिए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय तथा दो अन्य नेताओं को भी समन भेजा था।

हालांकि, कैलाश विजयवर्गीय ने मीडिया को दिए इंटरव्यू में कहा कि राजनीतिक प्रतिशोध निकालने के लिए बंगाल सरकार इस तरह के आरोप लगा रही है। उन्होंने बताया कि सीआईडी अफसर इंदौर आए थे और उन्होंने जूही चौधरी से संपर्क के बारे में सवाल पूछे थे।

ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें